ताज़ा ख़बरें

बस्ती:पचपेडिया मार्ग की दुर्दशा के विरोध में बुद्धि शुद्धि हवन यज्ञ के साथ सड़क पर रोपे धान

पचपेडिया मार्ग की दुर्दशा के विरोध में बुद्धि शुद्धि हवन यज्ञ के साथ सड़क पर रोपे धान

 

FB_IMG_1594903609613

बस्ती| पिछले 13 माह से शहर के पचपेडिया मार्ग की दुर्दशा के विरोध में बुधवार को क्षेत्रीय नागरिकोें का धैर्य टूट गया और सामाजिक कार्यकर्ता आनन्द राजपाल के संयोजन में लॉक डाउन के नियमों का पालन करते हुये द्विजेश ‘पचपेडिया’ मार्ग पर बुद्धि शुद्धि हवन यज्ञ करने के साथ ही रामप्रताप सिंह के नेतृत्व में सड़क पर धान की रोपाई कर प्रशासन और जन प्रतिनिधियों का ध्यानाकर्षण किया। आक्रोशित नागरिकों ने कहा कि एक सांसद, 5 विधायक और नगर पालिका अध्यक्ष मिलकर 1100 मीटर सड़क का निर्माण नहीं करा पा रहे हैं।, इससे भाजपा के विकास कार्यों के दावों की पोल खुल गई है।

 

FB_IMG_1594903612431

 
सामाजिक कार्यकर्ता आनन्द राजपाल ने बताया कि गत वर्ष 10 जून और 24 जून को जब द्विजेश ‘पचपेडिया’ मार्ग के निर्माण की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन किया गया था तो तत्कालीन उपजिलाधिकारी ने आश्वासन दिया था कि निर्माण शीघ्र शुरू करा दिया जायेगा। 13 माह बीत जाने के बाद भी सड़क निर्माण नहीं हुआ और स्थितियां और बदतर होती चली गई।

 

 

ब्रम्हदत्त पाण्डेय ने कहा कि नगर पालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि पुष्कर मिश्र स्थितियों को बेहतर ढंग से जानते हैं, वे 2 अक्टूबर 2019 को धरना स्थल पर भी पहुंचे थे, आश्वासन दिया किन्तु स्थितियां नहीं बदली। नागरिकों ने चेतावनी दिया कि यदि शीघ्र सड़क निर्माण न शुरू हुआ तो बुद्धि शुद्धि यज्ञ निरन्तर जारी रहेगा।

 

FB_IMG_1594903541216

 

नगरपालिका प्रशासन पूरी तरह जिम्मेदार
-मीना राजपाल

बस्तीः शहर को राष्ट्रीय राजमार्ग से जोड़ने वाले प्रमुख मार्ग पचपेड़िया रोड की बदहाली से नाराज स्थानीय नागरिकों व व्यापारियों ने एक बार फिर धरना प्रदर्शन
कर जिम्मेदारों का ध्यान आकृष्ट कराने की कोशिश
जारी है। गुरूवार को महिलाओं ने मोर्चा संभाला।

यज्ञ कर नेताओं और स्थानीय प्रशासन की बुद्धि शुद्धि
के लिये भगवान से प्रार्थना की। सुकन्या पाण्डेय ने कहा स्थानीय जनप्रतिनिधियों व प्रशासन के उदासीन रवैये के कारण राहगीरों, व्यापारियों और स्कूली बच्चों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। शहर एक ज्वलंत समस्या की अनदेखी भारी पड़़ेगी।

मीना राजपाल ने नगरपालिका प्रशासन को पूरी तरह जिम्मेदार ठहराते हुये कहा कि बंदरबांट का खेल खत्म करके जनहित के मुद्दों पर काम न करने का नतीजा भोगना पड़ेगा। उन्होने कहा दो साल से स्थानीय नागरिक नारकीय जीवन जी रहे हैं, ये किसी से नही छिपा है।

लेकिन जितने भी जिम्मेदार हैं वे खुद एक समस्या
और कोई समाधान बनने का प्रयास नही कर रहा है। जनान्दोलन का नेतृत्व कर रहे व्यापारी नेता आनंद राजपाल ने कहा यज्ञ अनवरत जारी रहेगा,भरोसा है जिम्मेदारों को भगवान सद्बुद्धि देंगे और सड़क निर्माण का मार्ग प्रशस्त होगा।तमाम प्रयासों के बाद सड़क बनवाने के लिये 1 करोड़ 26 लाख का बजट आवंटित हुआ।

लेकिन भाजपा के एक कद्दावर नेता ने टेण्डर रद करवा दिया जिससे एक बार फिर सड़क का निर्माण अधर में लटक गया। यज्ञ में शामिल महिलाओं ने जिला प्रशासन और जन प्रतिनिधियों के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली।

श्रीमती आशा सिंह,सुनीता शुक्ला, सरोज गुप्ता,हिमांशी, सुभावती, ज्योति त्रिपाठी, प्रभावती, मंशा, इसलावती, अनीता चौधरी, इंदू चौधरी, मधू गौतम, रेनू वर्मा, ममता सिंह, कंचन देवी, मैरी, मीरा,ललुआ,ब्रह्मदेव पाण्डेय, विनोद कुमार गुप्ता, पप्पू त्रिपाठी, अमित, विवेक, आनंद सिंह राठौर, धर्मेन्द्र कुमार, रोहित, कमलेश आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.