क्राइम्स

बस्ती:पुलिस ने 10 लाख रुपये की कीमत के 665 लीटर स्प्रीट किया बरामद, 07 अभियुक्त गिरफ्तार

FB_IMG_1596449200888
बस्ती|एसपी हेमराज मीना के निर्देश पर पुलिस के हत्थे चढ़ा तस्कर।सीओ अनिल कुमार के नेतृत्व में स्वाट टीम प्रभारी राजकुमार पांडेय, कप्तानगंज थानाध्यक्ष हरेकृष्ण उपाध्याय की टीम ने जहरीली शराब तस्करों को किया गिरफ्तार।

 

 

पुलिस ने 10 लाख रुपये की कीमत के 665 लीटर स्प्रीट किया बरामद। एसपी हेमराज मीना ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर किया खुलासा।आर्थिक व भौतिक लाभ हेतु पंजाब से भारी मात्रा में लाते थे रेक्टिफाइड स्प्रीट।इस जनपद और जोन के आसपास के जनपदों में अपने गैंग सदस्यों के माध्यम से कराते थे सप्लाई।

 

इस गैंग के सदस्य सरकारी ठेकों की दुकानों एवं ग्रामीण क्षेत्रों में भारी मुनाफा प्राप्त करने के उद्देश्य से बेचते थे रेक्टिफाइड स्प्रीट।

 

FB_IMG_1596449164241

 

अभियुक्तों को गिरफ्तार करने में उप निरीक्षक राकेश कुमार, उपनिरीक्षक सुग्रीव कुमार, हेड कांस्टेबल महेंद्र यादव, कांस्टेबल मनोज राय, मनिंद्र प्रताप चंद्र, अभिषेक तिवारी, देवेंद्र निषाद, रविशंकर साह रहे शामिल।

 

 

एसपी हेमराज मीणा ने बताया कि रेक्टीफाइड स्प्रीट को पंजाब से मंगाकर यह गैंग नकली शराब बनाता है। सरकारी शराब के ठेकों के साथ ही ब्लैक में इसकी बिक्री कर तगड़ा मुनाफा होता है। बरामद रेक्टीफाइड स्प्रीट से करीब चार हजार लीटर नकली शराब तैयार होती, जिसकी बाजार में कीमत करीब दस लाख रुपये है।
गैंग लीडर शुभम के साथ संदेश कुमार उर्फ छोटू निवासी महाराजगंज थाना कप्तानगंज, भजमन उर्फ कुकुनू निवासी पिनेसर थाना हर्रैया, अभिनाश कुमार सिंह उर्फ छोटू निवासी फरेन्दा सेंगर थाना कप्तानगंज, शिवम निवासी, बबलू निषाद निवासी थूहा थाना कप्तानगंज और कुशीनगर के हाटा थानांतर्गत अर्जुन डुमरी निवासी जय नारायण को गिरफ्तार किया गया है।

 

 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.