ताज़ा ख़बरें

तेलंगाना पॉवर प्लांट में लगी भीषण आग में 9 लोगों की गई जान , 15 घायल

लॉकडाउन के बाद से आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में औद्योगिक दुर्घटनाओं की बाढ़ सी आ गई है। यहां बचाव दल को शवों को बरामद करने में 17 घंटे तक का वक्त लग गया।


हैदराबाद:
 तेलंगाना राज्य विद्युत उत्पादन निगम लिमिटेड (टीएस गेंको) का पनबिजली संयंत्र जो नागरकुर्नूल जिले के श्रीसैलम में स्थित है, में भीषण अग्निकाण्ड के कारण नौ लोगों की मौत हो गई है और 15 अन्य लोग घायल हुए हैं। यह अग्निकाण्ड बृहस्पतिवार रात करीब 10:30 बजे के आसपास हुआ।

आग की लपटें इतनी भीषण थी कि बचाव दल को शवों को भूमिगत सुरंग से बरामद करने में 17 घंटों से भी ज्यादा का वक्त लग गया था। इस खबर को लिखते समय तक संयंत्र के टरबाइन और ट्रांसफार्मर के भीतर लगी आग को बुझाया नहीं जा सका था।

दुर्घटना के कारणों का पता अभी तक नहीं लग सका है। मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने इस दुर्घटना की जाँच के लिय आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) से कराने के आदेश दिए हैं।

लॉकडाउन के बाद से ही तेलंगाना और आंध्रप्रदेश में औद्योगिक दुर्घटनाओं का ताँता सा लगा हुआ है, जिसमें एलजी पॉलीमर में गैस रिसाव भी शामिल है, जिसमें 15 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा था। इस बीच अकेले आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम शहर में हुई चार दुर्घटनाओं में कुल मिलाकर 29 लोगों की जान जा चुकी है।

इन दुर्घटनाओं की जाँच के सिलसिले में देखने में आया है कि प्रबन्धन की ओर से आवश्यक सुरक्षा उपायों के गैर-अनुपालन इसके पीछे की आम वजह रही है।

एक अन्य दुर्घटना में आंध्रप्रदेश के चित्तूर जिले में एक निजी कृषि उत्पाद निर्माता फर्म से जुड़ी एक डेयरी में बृहस्पतिवार देर रात को अमोनियम गैस रिसाव के चलते 20 श्रमिकों, जिनमें से अधिकतर महिलाएं थीं, को अस्पताल में भर्ती करना पड़ा है।


 टीएस-गेंको जलविद्युत् संयंत्र में हताहतों की संख्या

केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) की टीमों ने शवों को संयंत्र की सुरंगों के निकास द्वार से बरामद किया, जबकि राष्ट्रीय आपदा नियन्त्रण बल (एनडीआरएफ) के सदस्यों को, जिन्होंने इस बचाव अभियान की शुरुआत की थी, ने संयंत्र में प्रवेश के कई असफल प्रयास किये थे। बचाव दल के कई सदस्यों को घुटन का सामना करना पड़ा था क्योंकि सुरंग के भीतर धुआं भर चुका था और उन्हें गेंको अस्पताल भेजना पड़ा।

मृतकों में डिप्टी इंजीनियर श्रीनिवास गौड़ और सहायक अभियंता सुरेंदर नायक, मोहन कुमार वेंकट राव, सुषमा और फातिमा, प्लांट अटेंडर में एत्तेम रामबाबू और किरण के साथ-साथ एक निजी कम्पनी अमरा राजा बैटरीज लिमिटेड के दो तकनीशियन- महेश और विनेश शामिल हैं। 

स्थानीय मीडिया रिपोर्टों के अनुसार आग ने जोर इसलिए भी पकड़ा क्योंकि एग्जॉस्ट फैन काम नहीं कर रहे थे, जिसकी वजह से भूमिगत सुरंगों के भीतर आग तेज हो गई और धुआं भर गया था। दुर्घटना के समय कैद की गई वीडियो को देखने से पता चलता है कि कर्मचारियों ने शुरू-शुरू में तो पोर्टेबल अग्निशामकों की मदद से आग बुझाने की कोशिशें की थीं, लेकिन वे सब बेकार गईं। ऐसी खबर है कि कई विस्फोटों के बाद जाकर आग ने जोर पकड़ा था।

एक अधिकारी के हवाले से खबर है कि “प्रोजेक्ट ईकाई का संचालन कई स्तरों पर चल रहा है। जो लोग कण्ट्रोल रूम में मौजूद थे, वे किसी तरह निकल पाने में कामयाब रहे। लेकिन जो लोग निचले तल पर थे, वे धुएं की वजह से बाहर निकल पाने में कामयाब नहीं हो सके। बिजली भी बंद कर देने की वजह से बचाव कार्य और बचने के प्रयासों में बाधा पहुँची है।”

संयंत्र के मुख्य अभियंता प्रभाकर राव को संदेह है कि अभियंताओं की मौत की वजह दम घुटने की वजह से हुई है।

तेलंगाना राज्य के ऊर्जा मंत्री जी जगदीश्वर रेड्डी जोकि दुर्घटना के कुछ ही घंटों के भीतर प्लांट पहुँच चुके थे, ने बचाव कार्यों की देखरेख की। मीडिया से अपनी बातचीत में रेड्डी का कहना था: “आग दुर्घटना की वजह से चार पैनल क्षतिग्रस्त हो चुके थे। जल्द ही यूनिट के भीतर धुआं पूरी तरह से फ़ैल चुका था। हालाँकि कारखाने में मौजूद कर्मचारियों ने बिजली की आपूर्ति बंद कर दी थी, लेकिन धुएं की वजह से वे आगे बढ़कर राहत अभियान को नहीं चलाया जा सका थ। वहीं घायलों को तत्काल अस्पताल ले जाया गया था।”

संयंत्र का दौरा करने वाले सीपीआई (एम) नेता जुलाकांति रंगा रेड्डी ने कहा कि एक उच्च स्तरीय विशेषज्ञ समिति से इस दुर्घटना की जाँच कराई जानी चाहिए, और मृतकों के परिवार वालों को मुआवजे के तौर पर 1 करोड़ रुपये की अनुग्रह राशि दी जानी चाहिए। सरकार द्वारा उपक्रम को आउटसोर्स किये जाने पर ऊँगली उठाते हुए उनका कहना था कि “टीएस गेंको जैसी सरकारी ईकाई को निजी कम्पनियों के हाथों आउटसोर्स क्यों किया जा रहा है?”

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.