ताज़ा ख़बरें

बस्ती:जिलाधिकारी ने जननी सुरक्षा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान, टीकाकरण व परिवार नियोजन गतिविधियों में तेजी लाने का दिए दिशा-निर्देश

बस्ती:जिलाधिकारी ने जननी सुरक्षा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान, टीकाकरण व परिवार नियोजन गतिविधियों में तेजी लाने का दिए दिशा-निर्देश

बस्ती| जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने जननी सुरक्षा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान, टीकाकरण तथा परिवार नियोजन गतिविधियों में तेजी लाने का निर्देश दिया है। पुलिस लाईन सभागार में आयोजित जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में उन्होने कहा कि कोविड-19 के कारण विभाग के राष्ट्रीय कार्यक्रमों की उपलब्धियों में कमी आयी है। इसको पूरा करने के लिए अगले छः माह में कार्ययोजना तैयार करके लक्ष्य प्राप्त करना होगा।


उन्होंने जननी सुरक्षा योजना के अन्तर्गत बनकटी, गौर तथा महिला चिकित्सालय को विशेष प्रयास करने के लिए निर्देशित किया। समीक्षा में उन्होने पाया कि संस्थागत प्रसव में 47091 लक्ष्य के सापेक्ष 9871 लाभार्थियों को पोषण के लिए आर्थिक सहायता दी गयी है, जो कि मात्र 21 प्रतिशत है। वर्ष 2019 में इसी अवधि में 12058 लाभार्थियों को सहायता दी गयी थी।


जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम में 5662 प्रसूतावो को भर्ती के दौरान निःशुल्क भोजन उपलब्ध कराया गया तथा 6599 प्रसूतावो को 102 नम्बर की एम्बुलेन्स से उनके घर तक पहॅुचाया गया।


जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि प्रत्येक माह की 09 तारीख को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व दिवस आयोजित करें। इस अवसर पर एक एमबीबीएस डाक्टर वहाँ उपस्थित रहकर सभी गर्भवती महिलाओं की जाँच करें ताकि सुरक्षित प्रसव कराया जा सके। इस अभियान के तहत 1779 गर्भवती महिलाए केन्द्र पर आयी, 1634 का हीमोग्लोबीन चेक हुआ, 1466 का एचआईवी टेस्ट हुआ, 93 का अल्ट्रासाउण्ड किया गया। उन्होंने कहा कि प्रत्येक गर्भवती महिला का डायवटीज तथा सिफ्लिस का जाॅच कराया जाना अनिवार्य है।


उन्होंने सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को निर्देश दिया कि टीकाकरण का अतिरिक्त सेशन आयोजित करके टीकाकरण का लक्ष्य पूरा करें। उल्लेखनीय है कि कोविड-19 के कारण लाकडाउन की अवधि में टीकाकरण नही हो पाया था, जो बाद में मई माह से शुरू किया गया। इस वर्ष कुल 71519 के सापेक्ष 22359 बच्चों का टीकाकरण किया गया है, जो कि मात्र 31 प्रतिशत है। कोविड-19 के कारण बने कन्टेनमेन्ट जोन तथा उसके बफर जोन में टीकाकरण अभियान संचालित करने का उन्होंने निर्देश दिया।


समीक्षा में उन्होने पाया कि परिवार नियोजन गतिविधियों में अन्तराल दिवस आयोजित नही हो रहे है।उन्होंने निर्देश दिया कि प्रत्येक शुक्रवार को सब सेण्टर पर गर्भ निरोधक अन्तरा टीका लगाने के लिए अन्तराल दिवस का आयोजन करें। इस वर्ष 5198 लक्ष्य के सापेक्ष मात्र 445 अन्तरा टीके लगाये गये है।


उन्होंने निर्देश दिया है कि कोविड-19 महामारी के दौर में सांस के गम्भीर रोगियों (SARI) तथा आईएलआई के मरीजो का अनिवार्य रूप से कोविड टेस्ट कराया जाय। उन्होने यह भी निर्देश दिया कि राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य कार्यक्रम के अन्तर्गत नरहरिया और बरदहिया में सभी स्वास्थ्य सुविधाए जैसे प्रसव पूर्व जांचे, प्रसव कराना, बाल स्वास्थ्य, टीकाकरण, नसबन्दी की सुविधाए वहाँ के लोगों को उपलब्ध कराये।


बैठक का संचालन डीपीएम राकेश पाण्डेय ने किया। बैठक में ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नन्दकिशोर कलाल,सीएमओ डाॅ0 एके गुप्ता, उप जिलाधिकारी आशाराम वर्मा, आनन्द श्रीनेत, डाॅ0 सोमेश श्रीवास्तव, डाॅ0 सीके वर्मा, डाॅ0 फखरेयार हुसैन, डाॅ0 आईए अंसारी, डाॅ0 रोचस्पति पाण्डेय, डाॅ0 सुषमा सिन्हा, डाॅ0 एके वर्मा, डाॅ0 रामप्रकाश, डाॅ0 जलज, आलोक राय, वित्त अधिकारी तथा प्रभारी चिकित्साधिकारी एवं नवनियुक्त डाॅक्टर उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.