Author Archives

सच के साथ - अशोक कुमार वर्मा

सच के साथ

राजनीति का पोषक विकास हो न कि जाति;

  ‘आज की भारतीय राजनीति का पोषक: जातिवाद’ शायद से हम एक ऐसी सदी में आ गए है जहाँ से, हम कह सकते है कि भारतीय राजनीति में एक बहुत बड़ा बदलाव […]

आरक्षण- खत्म करने की बात करने वालों, आओ मैं तुम्हे जातिवाद दिखाता हूं;

आजकल जहाँ भी दो चार सवर्ण एकत्रित होते हैं, वहाँ एक ही चर्चा होती है कि इस आरक्षण ने देश को बर्बाद कर दिया है, अब तो सभी बराबर हो गए हैं […]

बच्चों के प्रति हमारी जिम्मेदारियां;

अभिभावकों की जिम्मेदारी, कर्तव्य, समझ और उनकी सोच की व्यापकता बढ़ गई है। यह कहना अनुचित न होगा कि आज का अभिभावक अपने अभिभावकों से अधिक चिंतित, दुखी नज़र आता है। वह […]

लोकतंत्र और लोगतंत्र

जब चुनाव आता है इस वक्त मतदाता मालिक बन जाता है और मालिक याचक। यह हम देख भी रहे हैं और केवल इसी से लोकतंत्र परिलक्षित होता है। बाकी सभी मर्यादाएं, प्रक्रियाएं, […]

नेता बनने की विधि;

युवा नेता” बनने की विधि आइए जानें: कैसे बनें नेता भारत भाग्य विधाता कौन, आम आदमी, यह तो सदी का सबसे बड़ा जोक होगा। पैसा हो सकता है, मगर उसे चलाने वाले […]

हमारा नेता कैसा हो?

देश का नेता हमारा नेता कैसा …. जैसा हो ?, ये शायद हर आदमी अपने किसी न किसी नेता के लिए जरूर बोलता है, चाहे वो किसी भी पार्टी का हो. लेकिन […]

चुनाव आने वाला है!

आम जनता की परेशानी को ये नेता भाई बड़े शिद्दत सुन रहे हैं जब नेता लोग किसी आम पब्लिक से जुड़ी चीजों पर चर्चा करते हैं तो ये पब्लिक बेचारी ऐसे नेता […]