Author Archives

सच के साथ - Ashok Kumar Verma

सच के साथ

भारतीय शिक्षा का कटोरा वाद;

ये हैं भारत के भविष्य,वैसे तो भारतीय शिक्षा व्यवस्था को कई नामों से जाना जाता रहा है.यह कभी ‘गुरुकुल’ से सींचित हुआ.कभी ‘लार्ड मैकाले’ से. कभी इस पर वर्ण-भेद की प्रेत छाया,छाई […]

शिक्षा का बाजारीकरण एवं विदेशी विश्वविधालयों का प्रभाव ;

शिक्षा का व्यवसायीकरण या बाजारीकरण आज देश के समक्ष बड़ी चुनौती हैं। यह संकट देश में विगत 40-45 वर्षो में उभरकर आया है। परन्तु वास्तव में उसकी नींव अंग्रेज मैकाॅले द्वारा स्थापित […]

बस्ती जिले के खिलाड़ी मंजीत चौधरी की होगी IPL में निलामी

एक कहावत तो आपने जरूर सुनी होगी.कि मंजिले उन्ही को मिलती हैं जिनके सपनों में जान होती है। पंखों से कुछ नहीं होता हौसलों से उड़ान होती है। जी हां ये बात […]

धरती पर जानवरों का भी अधिकार है!

इंसान अपने फायदे के लिए क्या कुछ नहीं करता, घने जंगल को काटकर खेत बनाया, जानवरों के चरागाह को जोतकर खेत बनाया, कहीं कोई खाली जमीन नहीं रही सभी जगहों पर खेती […]

रामधारी सिंह दिनकर जी की क़लम से

प्रिय पाठकवृन्द्! अंग्रेजों ने भारत में अपने साम्राज्य को सुदृढ़ बनाए रखने के लिए हिन्दू-मुसलमान में तो फूट   डाली ही, हिन्दू समाज को भी आर्य द्रविड़ में बाँटा और आर्यों को विदेशी […]

ग़ुस्सा करके स्वयं को बीमार न बनाएँ, क्योंकि क्रोध स्वयं में एक व्याधि है!

क्रोध मनुष्य का सबसे बड़ा शत्रु है। मनुष्य के अन्त:करण में उठने वाली उग्रवृत्ति इतनी घातक है कि उसके जागने से व्यक्ति का रूप बड़ा कुरूप हो जाता है। जरा सोचिये तो […]