August 9, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

Basti News: अधिकारी अपने कार्य एंव आचरण में सुधार लाये अन्यथा होगी कार्यवाही-डीएम प्रियंका निरंजन

मुख्यमंत्री द्वारा की गयी समीक्षा में 03 तहसीलें मिली डिफाल्टर, डीएम ने प्रियंका ने दी चेतावनी

-मुख्यमंत्री संदर्भ समय से निस्तारित न करने वाले अधिकारियो के विरूद्ध होगी कार्यवाही- डीएम

-अधिकारी अपने कार्य एंव आचरण में सुधार लाये अन्यथा होगी कार्यवाही-डीएम

बस्ती 28 जुलाई । सीएम हेल्पलाईन तथा सीएम संदर्भ की शिकायतों के समयबद्ध निस्तारण के लिए जिला स्तर पर मानीटरिंग सेल बनाने के लिए जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन ने निर्देश दिया है। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक में उन्होने शिकायतों का समय से निस्तारण न किए जाने पर असंतोष व्यक्त किया है।

उन्होने चेतावनी दिया है कि सीएम हेल्पलाईन तथा मुख्यमंत्री संदर्भ समय से निस्तारित न करने वाले अधिकारियो के विरूद्ध कार्यवाही की जायेंगी। उन्होने कहा कि अधिकारी समय से शिकायतों का निस्तारण नही कर रहे है, जिसके कारण वे डिफाल्टर श्रेणी में आ जाती है। साथ ही निस्तारण की गुणवत्ता खराब होने के कारण शासन द्वारा रिजेक्ट करके वापस कर दी जा रही है।

उन्होने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि प्रतिदिन एक घण्टा शिकायतों का निस्तारण कराने तथा निस्तारण रिपोर्ट की गुणवत्ता चेक कराने के लिए दें। उन्होने निर्देश दिया कि आगामी 31 जुलाई तक 628 शिकायतें निस्तारित करें, अन्यथा 01 अगस्त को वे डिफाल्टर की श्रेणी में आ जायेंगी। उन्होने कहा कि 02 दिन पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा की गयी समीक्षा में जनपद की 03 तहसीलें शिकायतों के निस्तारण में डिफाल्टर पायी गयी। जिलाधिकारी ने चेतावनी दिया है कि अधिकारी अपने कार्य एंव आचरण में सुधार लाये अन्यथा उनके विरूद्ध कार्यवाही शुरू कर दी जायेंगी।

समीक्षा में उन्होने पाया कि कुछ विभागों द्वारा शिकायतों का समय से निस्तारण तो कर दिया गया है परन्तु उनकी गुणवत्ता पर ध्यान नही दिया गया है, जिसके कारण 70 से 100 प्रतिशत तक निस्तारण आख्या शासन द्वारा असंतुष्टि की श्रेणी में पायी गयी। उन्होने अधिकारियों को निर्देश दिया कि अधीनस्थों द्वारा निस्तारित शिकायतों की गुणवत्ता कार्यालयाध्यक्ष स्वयं जॉच करें तथा शिकायतकर्ता से फोन पर वार्ता करें।

उन्होने सभी उप जिलाधिकारियों को निर्देशित किया कि तहसील दिवस एवं आनलाईन प्राप्त हो रही शिकायतों का क्षेत्र चिन्हित करें। जिन राजस्व गॉव से अधिक या बार-बार शिकायतें आ रही है, वहॉ के राजस्व निरीक्षक एवं लेखपाल की जिम्मेदारी भी तय करें।

बैठक में जिलाधिकारी ने प्रधानमंत्री आरोग्य योजना के अन्तर्गत आयुष्मान कार्ड बनाने की समीक्षा किया। उन्होने निर्देश दिया है कि जो जनसुविधा केन्द्र कार्ड बनाने में सहयोग नही कर रहे है उनकी आईडी ब्लॉक कर दी जाय। उन्होने विशेष रूप से अन्त्योदय कार्डधारक तथा पंजीकृत श्रमिक का गोल्डन कार्ड बनाने का निर्देश दिया है। इसके लिए उन्होने जिला पूर्ति अधिकारी तथा श्रम प्रवर्तन अधिकारी को अभियान चलाकर कार्ड बनाने का निर्देश दिया है।
प्राइमरी स्कूलों की बाउंड्रीवाल निर्माण की समीक्षा में उन्होने पाया कि 470 में से 225 विद्यालयों के बाउंड्रीवाल का निर्माण शुरू हो पाया है लेकिन मात्र 85 निर्माण कार्यो का मस्टररोल पोर्टल पर शो कर रहा है। उन्होने बाउंड्रीवाल निर्माण कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया है।

बैठक में सीडीओ डा. राजेश कुमार प्रजापति, पीडी कमलेश सोनी, डीडीओ अजीत श्रीवास्तव, उप जिलाधिकारी सदर शैलेष दुबे, आनन्द श्रीनेत, जी.के. झॉ, एसीएमओ डा. सी.एल. कन्नौजिया, अधिशासी अभियन्ता सरयू नहर खण्ड-4 राकेश कुमार गौतम, सत्यवीर सिंह, विनय कुमार दुबे, खण्ड विकास अधिकारीगण तथा विभागीय अधिकारी उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.