August 9, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

Basti News: डीएम ने मिशन प्रेरणा फेज-2 में निपुण भारत के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए टास्क फोर्स के अधिकारियों को किया निर्देशित

डीएम ने मिशन प्रेरणा फेज-2 में निपुण भारत के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए टास्क फोर्स के अधिकारियों को किया निर्देशित

बस्ती 27 जून। मिशन प्रेरणा फेज-2 में निपुण भारत के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए जिलाधिकारी श्रीमती प्रियंका निरंजन ने टास्क फोर्स के अधिकारियों को निर्देशित किया है। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित टास्क फोर्स की पहली बैठक में उन्होंने निर्देश दिया है कि किसी भी बच्चे का प्रवेश कक्षा-1 में सीधे ना किया जाए। उसे आंगनबाड़ी और प्री प्राइमरी स्कूल दोनों के द्वारा अपनाया जाना है ताकि यहां से निकले हुए बच्चे का कक्षा-1 में प्रवेश किया जा सके। उन्होंने निर्देश दिया है कि निपुण भारत मिशन के अंतर्गत वर्ष 2026-27 तक बाल वाटिका से कक्षा-3 के शत-प्रतिशत बच्चों में मूलभूत साक्षरता एवं संख्या ज्ञान का लक्ष्य प्राप्त किया जाना है।

उन्होंने बताया कि शासनादेश के अनुसार बाल वाटिका में 5 से 6 वर्ष आयु के बच्चो में अक्षरों और संगत ध्वनियों को पहचानने की क्षमता होनी चाहिए। कक्षा-1 में अर्थ के साथ पढ़ने की क्षमता होनी चाहिए। कक्षा-2 में अर्थ के साथ पढ़ने एवं 45 से 60 शब्द प्रति मिनट प्रवाह के साथ पढ़ने की क्षमता विकसित की जाएगी। कक्षा-3 में अर्थ के साथ पढ़ लेने एवं न्यूनतम 60 शब्द प्रति मिनट प्रवाह के साथ पढ़ने की क्षमता विकसित की जाएगी। इसका थर्ड पार्टी किसी एनजीओ द्वारा मूल्यांकन नहीं कराया जाएगा। इस प्रकार की क्षमता विकसित हो जाने पर पूरा प्रदेश निपुण प्रदेश के रूप में जाना जाएगा।

जनपद स्तरीय टास्क फोर्स के सदस्य सचिव/बेसिक शिक्षा अधिकारी जगदीश शुक्ला ने बताया कि जनपद के सभी विद्यालयों में लाइब्रेरी की स्थापना कर दी गई है। विद्यालयों की कक्षाओं को आकर्षक ढंग से सजाया गया है, पोस्टर और कैलेंडर लगाए गए है, जिससे कि बच्चों की भाषा एवं गणितीय क्षमता में वृद्धि की जा सके। राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त शिक्षक एवं प्रदेश स्तरीय कमेटी के सदस्य डॉक्टर सर्वेष्ट मिश्र ने निपुण भारत मिशन के बारे में विस्तार से जानकारी दिया।

उन्होंने टास्क फोर्स के सदस्य अधिकारियों से अनुरोध किया कि शैक्षिक गुणवत्ता बढ़ाए जाने के संबंध में अपने सुझाव दें। उन्होंने बताया कि निपुण भारत मिशन अप्रैल 2022 से जनपद के सभी विद्यालयों में लागू कर दिया गया है। 16 जून से स्कूल खुलने के पश्चात 1 सप्ताह तक सभी बच्चों को रिवीजन कराया गया है। सप्ताहवार इसके कार्यक्रम जारी कर दिए गए हैं, जिसका अनुपालन कराया जा रहा है।


जनपद स्तरीय टास्क फोर्स में सीडीओ उपाध्यक्ष नामित किए गये है। सीएमओ, डाइट के प्राचार्य, डीआईओएस, डीपीआरओ, कार्यक्रम अधिकारी, समाज कल्याण अधिकारी, दिव्यांगजन सशक्तिकरण, एन.आई.सी के जिला सूचना विज्ञान अधिकारी, युवा कल्याण अधिकारी, राजकीय इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य तथा जिलाधिकारी द्वारा दो विशेषज्ञ नामित किए गए हैं। बैठक में टास्क फोर्स के सभी अधिकारी गण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.