May 20, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

Basti News: STF की सूचना पर टीईटी प्रश्नपत्र आउट करने वाले पांच शातिर गिरफ्तार

बस्ती| शिक्षक पात्रता परीक्षा प्रश्नपत्र लीक होने के के मामले में स्पेशल टास्क फोर्स लखनऊ व गोरखपुर की सूचना के बाद पुलिस सक्रिय हुई। कड़ी से कड़ी जोड़ते हुए पांच आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद एसटीएफ की टीमों ने उनसे लंबी पूछताछ की। उसके बाद तमाम जानकारियां उनके हाथ लगीं। हालांकि पुलिस अभी उनके बारे में कुछ भी बताने से बच रही है।

उत्तर प्रदेश मे बस्ती जिले के लालगंज थाने की पुलिस द्वारा मंगलवार को यूपीटीईटी पेपर लीक मामले मे पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि लालगंज थाने की पुलिस ने उत्तर प्रदेश शक्षिा पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) की परीक्षा मे मोटी रकम लेकर पेपर लीक करने वाले गिरोह के पांच सदस्यों आनन्द प्रकाश यादव,जगदीश यादव, निवासी ग्राम माझा मानपुर थाना गौर,विनय कुमार निवासी ग्राम मुण्डेरवा थाना कोतवाली,सत्येन्द्र सिंह उर्फ सोनू तथा अजीत यादव उर्फ धर्मेन्द्र यादव निवासी ग्राम तिघरा थाना लालगंज को गिरफ्तार करके इनके कब्जे से पांच मोबाइल फोन,2200 रूपया नगद बरामद किया गया है। उन्होने बताया कि इनके मोबाइल फोन मे यूपीटीईटी परीक्षा-2021 के मूल प्रश्न-पत्र तथा उत्तर पुस्तिका भी उपलब्ध पायी गयी है।

 

पकड़े गए पांचों आरोपितों में से सबसे पहली कड़ी प्राइमरी स्कूल का शिक्षक लालगंज थाने के तिघरा निवासी प्राइमरी स्कूल का शिक्षक अजीत यादव उर्फ धर्मेंद्र बताया जा रहा है। वह रामनगर ब्लाक के प्राइमरी पाठशाला भानपुर में सहायक अध्यापक के रूप में तैनात है। फरार सरगना ने एक दिन पहले ही उसे पेपर हल करने के लिए मुहैया करा दिया था।

उनके बीच का कनेक्शन अभी जांच का विषय है। पेपर मिलने के बाद उसने इसका सौदा करना शुरू कर दिया था। इसके बाद कितने लोगों तक इसकी काफी पहुंची, इसकी पुलिस अभी जांच कर रही है। बताया जा रहा है कि सबसे पहले उसने अपने गांव के सत्येंद्र उर्फ सोनू को पेपर मुहैया कराया। सोनू के जरिए बाकी तीनों गौर थानाक्षेत्र के माझा मानपुर निवासी आनंद प्रकाश यादव , जगदीश यादव के अलावा विनय कुमार निवासी लबनापार थाना कोतवाली को उसकी कॉपी फारवर्ड की गई।

अब तक की पूछताछ में पता चला कि इन प्रश्नपत्रों का सौदा 10 हजार रुपये से लेकर एक लाख तक में हुआ। धर्मेंद्र के जरिए बाकी को मिली पेपर की कॉपी देने के एवज में आधी रकम एडवांस ली गई, जिसे सबने बराबर-बराबर बांट लिया। बकाया रुपये पेपर खत्म होने के बाद दिए जाने थे।

बरामदगी के आधार पर सभी आरोपितों के खिलाफ लालगंज थाने में आईपीसी की धारा 420, 120बी, 66डी आईटी एक्ट और 4/10 सार्वजनिक परीक्षा नियंत्रण अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया है। एसएसपी ने बताया कि इनसे पूछताछ जारी है।

 

इस टीम ने की गिरफ्तारी

पर्चा लीक कांड से जुड़े पांच आरोपितों की धरपकड़ करने वाली टीम में थानाध्यक्ष लालगंज उमाशंकर त्रिपाठी, प्रभारी एंटी नॉरकोटिक्स टीम योगेश सिंह, एसआई मुकुन्द त्रिपाठी, लालगंज थाने के आरक्षी किशन सिंह, बृजभूषण सिंह, गुंजन यादव, एंटी नॉरकोटिक्स टीम के मुख्य आरक्षी महेन्द्र यादव, आरक्षी सर्वेश नायक, रमेश कुमार गुप्ता और सर्विलांस सेल के आरक्षी सत्येन्द्र सिंह शामिल रहे।

 

आपको बता दे कि उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रत परीक्षा 2021 का आयोजन 28 नवंबर 2021 को किया जाना था, लेकिन परीक्षा (UPTET Exam 2021) से ठीक पहले पेपर लीक (UPTET 2021 Paper Leak) हो जाने के लिए परीक्षा को स्थगित कर दिया गया. वहीं अभी तक परीक्षा की नई तिथि नहीं घोषित की गई है. टीईटी पेपर लीक मामले में प्रदेश सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय कुमार उपाध्याय के संस्पेड कर दिया है. वहीं प्रिंटिग प्रेस के मालिक को भी गिरफ्तार किया गया है. मामले की जांच यूपी एसटीएफ कर रही है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.