January 20, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

Bhandara Tragedy: महाराष्ट्र के भंडारा के जिला अस्पताल में आग, 10 नवजात शिशुओं की दर्दनाक मौत

हाइलाइट्स:

  • महाराष्ट्र में भंडारा जिले में सरकारी अस्पताल में शनिवार देर रात आग लगने से 10 नवजात शिशुओं की मौत
  • जिला अस्पताल के बच्चों के नवजात केयर यूनिट में देर रात 2 बजे अचानक से आग लग गई और यह हादसा हुआ
  • इस हादसे में इंटेंसिव केयर यूनिट में रखे 10 नवजात शिशुओं की मौके पर ही मौत हो गई, 7 को बचा लिया गया

नागपुर|महाराष्ट्र में नागपुर के नजदीक भंडारा जिले में सरकारी अस्पताल से दर्दनाक खबर आई है। इस अस्पताल में शनिवार देर रात आग लगने से 10 नवजात शिशुओं की मौत हो गई। जिला अस्पताल के सिक न्यूबॉर्न केयर यूनिट ( SNCU) में देर रात 2 बजे अचानक से आग लग गई और यह हादसा हुआ।

इस हादसे में इंटेंसिव केयर यूनिट में रखे 10 नवजात शिशुओं की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 7 नवजात शिशुओं को बचा लिया गया है। बताया जा रहा है कि शॉर्ट सर्किट के चलते आग लगी। हादसे पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से लेकर पीएम नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने शोक व्यक्त किया।

महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा, ‘भंडारा स्थित जिला सामान्य अस्पताल की नवजात देखभाल यूनिट में आग लगने से 10 नवजातों की मौत की खबर चौंकाने वाली और दुर्भाग्यपूर्ण है। मैंने भंडारा पुलिस को घटना की पूरी जांच करने का आदेश दिया है। आज मैं खुद भंडारा जिला के इस अस्पताल में जा रहा हूं।’ वहीं स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने मृतक बच्चों के परिजनों को 5 लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया है।

अधिकारी ने बताया कि कैसे हुआ हादसा?

भंडारा जिला अस्पताल के मेडिकल अधिकारी डॉ.प्रमोद खंडाते ने बताया, ‘देर रात करीब 2 बजे के आसपास यह हादसा हुआ है। अस्पताल के आउट बोर्न यूनिट में धुआं निकल रहा था। जब अस्पताल की नर्स ने दरवाजा खोला तो देखा आउट बॉर्न यूनिट में सब जगह धुआं ही धुआं था।’

अधिकारी के अनुसार, नर्स ने तुरंत अस्पताल के अधिकारियों को बुलाया। आपातकाल विभाग और दमकल विभाग मौके पर पहुंचकर बच्चों को बचाने की कोशिश की। हालांकि, इस हादसे में 10 शिशुओं की मौत हो गई, जबकि 7 शिशुओं को बचा लिया गया।

आग की वजह का पता लगाने पहुंची जांच टीम

आग लगने की वजहों का पता लगाने के लिए जांच टीम दमकल टीम की मदद से अस्पताल के अंदर पहुंच चुकी है। जिस वार्ड में आग लगी थी उसकी वीडियो रिकॉर्डिंग की जा रही है। भंडारा के इस जिला अस्पताल का फायर ऑडिट हुआ था या नहीं, इसकी भी जांच की जा रही है।

फडणवीस बोले- दोषियों के खिलाफ हो सख्त कार्रवाई
महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेन्द्र फडणवीस ने कहा, ‘भंडारा जिला अस्पताल में आग लगने से लगभग 10 बच्चों की मौत की घटना बहुत दर्दनाक और दिल दहला देने वाली है। हम इन सभी परिवारों के इस दुख में सहभागी है। इस घटना की तुरंत जांच होनी चाहिए और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।’


मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जांच के दिए आदेश

 महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भंडारा जिला अस्पताल में आग लगने की घटना में नवजात बच्चों की मौत पर दु:ख व्यक्त करते हुए मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

डॉक्टरों ने बताया कि पूर्वी महाराष्ट्र के भंडारा में जिला अस्पताल में शुक्रवार देर रात विशेष नवजात देखरेख इकाई में आग लगने से 10 नवजात बच्चों की मौत हो गई।

एक डॉक्टर ने बताया कि नवजात बच्चों की उम्र एक महीने से तीन महीने के बीच थी।

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान में बताया गया है कि घटना की जानकारी मिलने के तुरंत बाद ठाकरे ने स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे से बातचीत की।

बयान में कहा गया, ‘‘ मुख्यमंत्री ने जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से बातचीत करके उन्हें जांच करने के लिए कहा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.