Category: भारतीय शिक्षा प्रणाली

रिपोर्ट : भारत में सौ में केवल 24 हैं कामकाजी महिलाएं

जेंडर गैप रिपोर्ट 2020 के तहत भारत में 82% पुरुषों की तुलना में केवल 24% महिलाएं ही कामकाजी हैं। केवल 14% महिलाएं नेतृत्वकारी भूमिकाओं में हैं और भारत का इस इंडेक्स में […]

सुल्तानों-बादशाहों को पूर्वज बताने से ‘अपमानित’ वल्दियत कैसे बदलेगी?

सुलतानों-बादशाहों को पूर्वज बताने से ‘अपमानित’ वल्दियत कैसे बदलेगी? दिल्ली में सात सौ साल की सुलतानों-बादशाहों की हुकूमत के दौरान नामालूम किस जलालत में उनके किस पुरखे ने, औरत ने अपना नाम […]

वैश्विक लोकतंत्र सूचकांक में 10 पायदान लुढ़का भारत,चुनाव प्रक्रिया और बहुलतवाद मुख्य वजह

लोकतंत्र सूचकांक की वैश्विक रैंकिंग में 10 स्थान गिरकर अभी 51वें पायदान पर है। लोकतांत्रिक सूची में यह गिरावट देश में नागरिक स्वतंत्रता में कमी के कारण आई है। यह सूचकांक पांच […]

जन्म दिन: क्यों सुभाष चंद्र बोस की मौत का दावा आधुनिक भारत के सबसे बड़े रहस्यों में से एक है

कहा जाता है कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मौत 1945 में ताइवान में हुए विमान हादसे में हो गई थी. लेकिन इस बात पर संदेह करने के कारण मौजूद हैं.   […]

मोदी के भीतर से कौन बोलता है? जानिए…

  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जिंदगी की सफलता का राज आखिर क्या है? आखिर वो कौन सी चीज है जो उन्हें भारत की मौजूदा राजनीति में नेताओँ की भीड़ में सबसे अलग […]

गोरखपुर में सैनिक स्‍कूल के लिए तय हो गई जगह, जानिए किस क्‍लास में मिलेेेेगा दाखिला

गोरखपुर| उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में प्रस्तावित सैनिक स्कूल के लिए फर्टिलाइजर में 49 एकड़ जमीन चिन्हित कर ली गई है। इसके लिए सीएम हरी झंडी दे चुके हैं। सीएम की हरी […]

क्या दुनिया का कोई देश वैसा धर्मनिरपेक्ष है जैसा होने की उम्मीद कई लोग भारत से करते हैं..

भारत में ‘धर्म’ और ‘धर्मनिरपेक्ष’ का अर्थ वह नहीं है जो लैटिन से निकले अंग्रेज़ी शब्दों ‘रिलिजन’ और ‘सेक्युलर’ का है।     सच के साथ|26 जनवरी का दिन भारत में गणराज्य […]

‘वंदे मातरम’ से क्यों है मुस्लिमों को परहेज

मध्य प्रदेश में वंदे मातरम गीत पर हुए विवाद के बाद जानिए कि क्या रहे हैं इसे लेकर विवाद और क्या रही है राष्ट्रगीत की यात्रा   मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार […]

सच के साथ: शिक्षा की साख बचाने का समय

हमें युवाओं की ऊर्जा, स्वप्न, और सामाजिक सरोकारों के साथ तालमेल बिठाना होगा। उन्हें खुद निर्णय लेने के लिए तैयार करना होगा कि कैसे वे एक बेहतर दुनिया के निर्माता बनें? हम […]

सच के साथ: मंदी में ‘फरारी’ कार!

सच के साथ|सरकार नहीं चाहती है कि हमें बढ़ती बेरोजगारी का पता चले, और हमें दुख पहुंचे। या फिर हमें शिक्षा में हो रही गिरावट की भनक लगे और हम अवसाद में […]