Category: विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

पक्षी V का आकार बनाकर क्यों उड़ते हैं, कलाकारी नहीं इसके पीछे साइंस है साइंस

पक्षी V का आकार बनाकर क्यों  उड़ते हैं, कलाकारी नहीं इसके पीछे साइंस है साइंस इंजीनियरिंग में एक शब्द खूब सुनने को मिलता है – बायोमिमेटिक्स. बायोमिमेटिक्स शब्द बायो और मिमिक्री से बना […]

पल भर में तबाह होगा 2000 KM दूर बैठा दुश्मन, भारत ने किया अग्नि-2 का सफल परीक्षण

नई दिल्ली:भारत ने शनिवार को मध्यम दूरी के बैलेस्टिक मिसाइल अग्नि-2 का सफल परीक्षण किया है. सरकारी सूत्रों के मुताबिक ओडिशा के बालासोर से इस मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया.   […]

दुनिया को अलविदा कह परलोक सिधार गए आइंस्टीन की सिद्धान्त को चुनौती देने वाला महान वैज्ञानिक, श्रद्धांजलि

बिहार के विभूति महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का निधन हो गया है। वशिष्ठ नाराय़ण सिंह अपने परिजनों के संग पटना के कुल्हरिया कंपलेक्स में रहते थे। बताया जा रहा है कि […]

कंप्यूटर से भी तेज चलता था बिहार के गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का दिमाग, नासा ने भी माना लोहा

नासा ने जिसके ज्ञान का इस्तेमाल कर अंतरिक्ष के अपने मिशन को आगे बढ़ाया, वह विश्व प्रसिद्ध गणितज्ञ इन दिनों पटना में किराये के अपने फ्लैट में जिंदगी गुजार रहे हैं. साठ […]

सतत विकास के लिये हरित ऊर्जा ही एकमात्र विकल्प (Green Energy is the only option for sustainable development)

पिछले कुछ दशकों से भूमण्डलीय तापन और जलवायु परिवर्तन जैसे पर्यावरणीय मुद्दों के खुलकर सामने आने के बाद से पूरी दुनिया के लोगों की पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरुकता बढ़ी है। हाल […]

नई तकनीकों से हल हो सकती है पराली की समस्या

धान की फसल तैयार होने के साथ ही खेतों में पराली जलाने के कारण होने वाले प्रदूषण की चिंता भी बढ़ने लगी है। वैज्ञानिकों ने आगाह किया है किया है कि समय […]

पराली जलाने की समस्या, किसानों के ‘अर्थशास्त्र’ पर ध्यान देना होगा

पराली जलाने की समस्या, किसानों के ‘अर्थशास्त्र’ पर ध्यान देना होगा:   अक्तूबर के महीने में पंजाब, हरियाणा तथा उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में धान की कुछ शुरूआती किस्मों की कटाई […]

एशिया की वह पहली महिला, जो पीडब्ल्यूडी विभाग में बनीं चीफ इंजीनियर!

भारत में इंजीनियरिंग का क्षेत्र आज भी पुरुष-प्रधान है। उच्च शिक्षा पर एक अखिल भारतीय सर्वेक्षण के अनुसार, आर्ट्स और साइंस के बाद इंजीनियरिंग में सबसे ज़्यादा दाखिले होते हैं, जिनमें सिर्फ़ […]

15 की उम्र में शादी, 18 में विधवा : कहानी भारत की पहली महिला इंजीनियर की!

एक मध्यम वर्गीय तेलगु परिवार में जन्मी ए ललिता की शादी तब कर दी गई थीं जब वह मात्र 15 वर्ष की थीं। 18 साल की आयु में ये एक बच्ची की […]

सोचिएगा कामरेड! कैसे बदला ‘उत्तम खेती, मध्यम बान, नीच चाकरी, भीख निदान’ की कहावतों का देश

कृषि के लिए किसान क्या पशु रखना चाहेगा? सुरक्षा है ही नहीं- न जीवन की, न चोरी से बचाने की, न ही चोरी होने पर किसी मुआवजे की, न चोरी रोकने के […]