Category: शिक्षा

बस्ती: उप जिलाधिकारी के निरीक्षण में बदहाल कस्तूरबा गांधी विद्यालय खुली पोल

उप जिलाधिकारी के निरीक्षण में बदहाल कस्तूरबा गांधी विद्यालय खुली पोल   बस्ती| जनपद के हरैया तहसील के परशुरामपुर विकासखंड में संचालित कस्तूरबा आवासीय बालिका विद्यालय का उप जिला अधिकारी हरैया प्रेम […]

बस्ती महोत्सव: जिले को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलायेगा बस्ती महोत्सव- जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन

बस्ती को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलायेगा बस्ती महोत्सव- जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन     बस्ती । महोत्सव 2020 से जुड़ने के लिए जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने जनपद वासियों से अपील किया है। […]

रतन टाटा ने मोदी और अमित शाह की तारीफ की, कहा- ऐसी दूरदर्शी सरकार की मदद करनी चाहिए

टाटा ग्रुप के चेयरमैन एमेरिटस ने कहा- प्रधानमंत्री और गृहमंत्री के पास देश के लिए विजन है। देश नए भारत की दिशा में बढ़ रहा, युवाओं का स्किल्ड होना जरूरी।   गांधीनगर […]

गांधी ने किया था भारतीय रेल का सबसे अधिक राजनीतिक इस्तेमाल

बंबई में 1853 का एक दिन. उस दिन वहाँ सार्वजनिक अवकाश घोषित कर दिया गया था. दोपहर तीन बजकर पैंतीस मिनट पर 21 तोपों की सलामी के साथ बोरीबंदर से ठाणे के […]

जानिए, क्यों मनाई जाती है मकर संक्रांति?

सूर्य के एक राशि से दूसरी राशि में जाने को ही संक्रांति कहते हैं. एक संक्रांति से दूसरी संक्रांति के बीच का समय ही सौर मास है. वैसे तो सूर्य संक्रांति 12 […]

वंदे भारत, तेजस और मेक इन इंडिया का बंटाधार

सरकारी अफसरशाही और उसके चारों और मँडराते दलाल समूहों के हित हमेशा से विदेशों से महँगे आयात से जुड़े रहे हैं क्योंकि इस प्रक्रिया में उनके लिए कमाई का बड़ा मौका होता […]

National Youth Day 2020: 12 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय युवा दिवस, जानें इसका महत्त्व व इतिहास

National Youth Day 2020: राष्ट्रीय युवा दिवस पर स्कूल और कॉलेज में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन कराया जाता है। इस दिन युवाओं को स्वामी विवेकानंद जी के विचारों और आदर्शों के बारे […]

सच के साथ:जब हिंसा ही देशभक्ति बन जाए…

जेएनयू में गुंडों में देशभक्ति भरने की इस प्रक्रिया में पुलिस भी गुंडों की सहयोगी थी। पुलिस या तो खुद गुंडागिरी करती है या फिर गुंडों का सहयोग करने लगती है।   […]

विश्व पुस्तक मेले पर गहरा होता भगवा रंग !

पुस्तक मेले के नाम पर कथित साधु-संतों का जमावड़ा बढ़ता जा रहा है। धार्मिक व अंधविश्वासी पुस्तकों का बोलबाला बढ़ रहा है। विश्लेषणात्मक सोच व दूसरों के विचारों के प्रति सम्मान की […]

जानिए, देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्‍त्री के जीवन के कुछ अनछुए पहलू, जब मौत बनी पहेली

भारत-पाकिस्‍तान के बीच ताशकंद समझौते (The Tashkent Declaration) की बात होते ही बरबस हमारे आंखों के समक्ष देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्‍त्री जी की यादें प्रखर हो जाती हैं। 1965 […]