Category: भारत के किसान

बस्ती:भुगतान न करने पर मिलों पर दर्ज कराएं एफआइआर : डीएम आशुतोष निरंजन

बस्ती:किसान दिवस पर विकास भवन में गोष्ठी हुई। किसानों ने जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन के सामने समस्या गिनाई। सर्वाधिक समस्या गन्ना मूल्य भुगतान का उठा। जिले में डेढ़ अरब का बकाया है। इसपर […]

बस्ती:अजय एग्रो मैसी ट्रैक्टर एजेंसी की ओर से आयोजित किसान लाटरी योजना में मिली मोटर साइकिल

  बस्ती:अजय एग्रो मैसी ट्रैक्टर एजेंसी की ओर से किसान लाटरी का आयोजन किया गया। इसमें दस किसानों ने हिस्सा लिया। मंतोष पांडेय, रामचंद्र वर्मा, बालमुकुंद शुक्ल, जीतनरायन चौधरी, शंकरनाथ मिश्र, रामचंद्र चौधरी, […]

बस्ती: जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने 75 कर्मचारियों का एक दिन का बेतन रोक किया ज़बाब तलव; जानिए क्यों किया गया ऐसा

  बस्ती: जिलाधिकारी महोदय आशुतोष निरंजन जी ने जनपद में सरकारी कार्यालयों में समय से ना आने वाले विभिन्न विभागों के 75 सरकारी कर्मियों का एक दिन का वेतन रोकते हुए जवाब तलब […]

किसान सम्मान निधि के लिए वेबसाइट के माध्यम से अब किसान स्यवं ही कर सकते हैं आनलाइन आवेदन, संशोधन व परीक्षण

  कृषक बन्धु अब भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लेने अथवा आधार आदि में संशोधन स्वयं ही कर सकते हैं। यह जानकारी देते हुए जिलाधिकारी […]

छोटे होते जा रहे परिवारों की बढ़ी होती जा रही समस्याएं

  परिवार को संजोये रखना आज सारी दुनिया की समस्या हो गई है। हालांकि सारी दुनिया में वसुदेव कुटुंबकम का उद्घोष करने वाले हमारे देश में ही परिवार नामक संस्था को बनाए […]

भारत में कुल कितने गाँव है 2019

क्या आप जानते है भारत में कुल कितने गाँव है नहीं जानते तो आज हम आपको इसी बारे में बताने जा रहे हैं. इंडिया एक कृषि प्रधान देश है. ऐसे में भारत […]

देवरिया:सन् 1914 में स्थापित ब्रिटिशकालीन गौरीबाजार के बंद चीनी मिल मजदूरों से मिले एसडीएम और सीडीओ..

देवरिया जिले के गौरी बाजार चीनी मिल परिसर में पहुंचे दोनों अधिकारियों ने श्रमिक नेता ऋषिकेश यादव,कपिल देव यादव समेत श्रमिकों से उनकी समस्याओं को गंभीरता से सुना। श्रमिकों ने बताया कि […]

आखिर आजादी के 71 वर्षों बाद भी ओबीसी समाज अपना हक क्यों नहीं प्राप्त कर पाया?

ओबीसी का बहुलांश हिस्सा न केवल सामाजिक-शैक्षणिक तौर पर पिछड़ा है, बल्कि संपत्ति और साधन विहीन भी है। इस समुदाय के एक बडे हिस्से के पास कोई हुनर भी नहीं है। आजादी […]

झूठ और मूर्ख बनाने की राजनीतिक खेती

हर सरकार कुछ न कुछ काम करती ही है, उसकी कुछ प्राथमिकताएँ होती हैं| लेकिन वह कई काम नहीं भी करती है| यह अलग बात है कि काम करने में कुछ की […]

मजदूर दिवस 1 मई:मजदूर को अनस्किल्ड लेबर कहना धोखा है.

बिना मजदूरों के सहयोग के समाज की कल्पना व्यर्थ है. यदि हम मजदूरों को देखें और जिस तरह से वो काम करते हैं उसका अवलोकन करें तो मिलता है कि ये भी […]