Category: Indian Constitution

कुमाऊं यूनिवर्सिटी में वाइस प्रेसीडेंट रह चुकी डबल एमए पास हंसी हरिद्वार में मांग रही भीख, रुला देगी कहानी

नैनीताल | कुमाऊं यूनिवर्सिटी का कैंपस कभी हंसी प्रहरी के नाम के नारों से गूंजता था। प्रतिभा और वाकपटुता इस कदर भरी थी कि वाइस प्रेसीडेंट का चुनाव लड़ी और जीत गई। राजनीति […]

Bihar Chunav: हवा का रुख मोड़ने आ रहे हैं PM मोदी, 4 दिनों में करेंगे ताबड़तोड़ 12 रैलियां

Bihar Assembly Elections: एनडीए के स्टार प्रचारक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 23 अक्टूबर से 3 नवंबर तक बिहार में 12 चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे. इनमें से 6 रैली उत्तर बिहार […]

बिहार चुनाव 2020 में नया क्या है? वो सारी बातें जो देश जानना चाहता है

बिहार में विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) के लिए माथापच्चियां तो खूब हो रही हैं लेकिन इसमें सबसे अधिक चर्चा है जातिवाद (Casteism) की, वोटरों की संख्या को ध्यान में रखकर ही […]

विश्वगुरु बनने की चाह रखने वाला भारत ग्लोबल हंगर इंडेक्स में 107 देशों में 94वें पायदान पर

विश्वगुरु बनने की चाह रखने वाला भारत ग्लोबल हंगर इंडेक्स में 107 देशों में 94वें पायदान पर ग्लोबल हंगर इंडेक्स के अनुसार 2020 में दुनिया भर के 107 देशों में से भारत […]

सच के साथ:कैसे फांसीवाद ने पूंजीवाद के साथ आकर सरकार को दोबारा परिभाषित किया है?

कैसे फांसीवाद सीवाद ने पूंजीवाद के साथ आकर सरकार को दोबारा परिभाषित किया है? 20 वीं सदी ने फासीवाद के उभार और पतन के कुछ बड़े उदाहरण देखे थे। आज एक बार […]

Castiziam:हमें सम्मान से जीने नहीं देती है ये जाति!

हमें सम्मान से जीने नहीं देती है ये जाति! इस दमन-चक्र को रोकने के लिए लोकतांत्रिक दायरे में रहकर ही कोई राह निकालनी जरूरी है। विचार-विमर्श जरूरी है। इस पूरे परिदृश्य के […]

चिन्मयानंद रेप केस में पीड़ित छात्रा के यू-टर्न ने पूरी व्यवस्था को सवालों के घेरे में ला दिया!

सच के साथ |हाथरस केस (Hathras Case) पर मचे बवाल के बीच चिन्मयानंद केस (Chinmayanand Case) में अचानक ही नयी बात सामने आ रही है. कानून की जिस छात्रा (Law Student) ने […]

BiharAssembly Elections2020: क्या ‘लेनिनग्राद’ में लेफ्ट की होगी वापसी?

बिहार चुनाव: क्या ‘लेनिनग्राद’ में लेफ्ट की होगी वापसी? “ये बात सही है कि हमारी ताकत के मुताबिक हमें उतनी सीटें नहीं मिली हैं लेकिन ये समय की मांग है। हम चाहते […]

बुरे दौर में प्रतियोगी परीक्षाएं, लापरवाह आयोग, सोती सरकारें और बर्बाद होते लाखों अरमान

बुरे दौर में प्रतियोगी परीक्षाएं, लापरवाह आयोग, सोती सरकारें और बर्बाद होते लाखों अरमान प्रतिवर्ष घटती ‘वेकैंसी’ और बढ़ती बेरोज़गारी दर की दोहरी मार झेलते छात्रों के अरमानों के साथ खिलवाड़ किया […]

14 अक्टूबर आंबेडकर का धर्म परिवर्तनः मुक्ति का आख़िरी प्रयास

आंबेडकर का धर्म परिवर्तनः मुक्ति का आख़िरी प्रयास आज सवाल यह है कि डॉ. आंबेडकर ने दलित समाज को अन्याय और अत्याचार से मुक्ति के लिए जो आख़िरी रास्ता दिखाया था वह […]