June 24, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

India vs South Africa: विराट कोहली ने तोड़ा सचिन और वीरेंदर सहवाग का रेकॉर्ड, लगाया 7वां दोहरा शतक

images(79)

 

नई दिल्ली: विराट कोहली ने सचिन तेंडुलकर और वीरेंदर सहवाग के भारतीय रेकॉर्ड को तोड़ दिया है। वह टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा दोहरे शतक लगाने वाले भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं। शुक्रवार को साउथ अफ्रीका के खिलाफ पुणे में खेले जा रहे टेस्ट मैच के दूसरे दिन भारतीय कप्तान ने अपने टेस्ट करियर का 7वां दोहरा शतक लगाया। इसके साथ ही उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 7000 रन भी पूरे कर लिए।

 

सचिन-सहवाग से निकले आगे

कोहली ने अपने 81वें टेस्ट मैच की 138वीं पारी में यह मुकाम हासिल किया। इससे पहले सचिन तेंडुलकर 200 टेस्ट मैचों की 329 पारियों और वीरेंदर सहवाग ने 104 टेस्ट मैचों की 180 पारियों में 6-6 दोहरे शतक लगाए हैं।

 

ब्रैडमैन सबसे आगे
टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा दोहरे शतक लगाने का रेकॉर्ड ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज डॉन ब्रैडमैन के नाम है। ब्रैडमैन ने 52 टेस्ट मैचों में 12 दोहरे शतक लगाए थे। श्रीलंका के कुमार संगाकारा ने 11 और ब्रायन लारा ने 9 दोहरे शतक लगाए थे। इंग्लैंड के दिग्गज बल्लेबाज वॉली हेमंड ने 85 टेस्ट मैचों में 7 और जयवर्धने ने 149 टेस्ट मैचों में 7 दोहरे शतक लगाए हैं।

 
7000 रन भी पूरे
कोहली ने इसके साथ ही टेस्ट क्रिकेट में अपने 7000 रन भी पूरे कर लिए। उन्होंने 138 पारियों में यह मुकाम हासिल किया। वह सबसे कम मैचों में यहां पहुंचने वाले तीसरे भारतीय बल्लेबाज हैं। भारत की ओर से वीरेंदर सहवाग ने 134 और सचिन तेंडुलकर ने 136 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की थी।

 

 

ब्रैडमैन को पीछे छोड़ा
विराट कोहली ने बतौर कप्तान टेस्ट क्रिकेट में 9वीं बार 150 का आंकड़ा पार किया। ब्रैडमैन ने 8 बार कप्तान के रूप में 150+ का आंकड़ा पार किया था। इसके साथ ही उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में कुल रन (6996) को पीछे छोड़ा। ब्रायन लारा, महेला जयवर्धने, ग्रीम स्मिथ और माइकल क्लार्क ने 7 बार ऐसा किया है।

 

 

सबसे तेजी से 1000 टेस्ट रन
विराट कोहली सबसे कम पारियों में साउथ अफ्रीका के खिलाफ 1000 टेस्ट रन पूरे करने वाले भारतीय बल्लेबाज बन गए। कोहली ने अपनी 19वीं पारी में यह मुकाम हासिल किया। उन्होंने वीरेंदर सहवाग के रेकॉर्ड को तोड़ा जिन्होंने 20 पारियों में साउथ अफ्रीका के खिलाफ 1000 रन पूरे किए थे। सचिन तेंडुलकर ने 29 और राहुल द्रविड़ ने 30 पारियों में 1000 टेस्ट रन पूरे किए थे।

 

जब मिला कोहली को जीवनदान
विराट कोहली ने अपने दोहरे शतक में कोई छक्का नहीं लगाया था। इसके बाद उन्होंने इस पारी का पहला छक्का लगाया। कोहली जब 208 के स्कोर पर थे तब उन्हें जीवनदान मिला था। मुथुसामी की गेंद पर उनका कैच लपका गया लेकिन वह नो-बॉल थी।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.