August 9, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

Kerala NEET Exam: नीट परीक्षा में बैठी लड़कियों से उतरवाए अंडरगारमेंट्स, पीड़िता ने बताया तीन घंटे ऐसे ही बैठना पड़ा

Kerala NEET Row: केरल में नीट परीक्षा (NEET Exam) के दौरान छात्राओं से उनकी ब्रा (Bra) उतारने का मामला सामने आया. बीते रविवार 17 जुलाई को नीट का एग्जाम देने गई छात्राओं से हॉल में प्रवेश से पहले चेकिंग के दौरान उनके अंडरगार्मेंट्स उतरवाए गए. इसके पीछे तर्क ये दिया गया कि उनके ब्रा में मेटल हुक है जो मशीन में बीप की आवाज़ दे रहा है.

 

दरअसल, मामला कोल्लम जिले के एनईईटी केंद्र मार्थोमा इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशम टेक्नोलॉजी का है. छात्रा से ब्रा उतारने की मांग पर उसने विरोध किया तो उससे कहा गया कि अगर उसने ब्रा नहीं हटायी तो उसे मेडिकल प्रवेश परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी जाएगी. हैरान कर देने वाली बात ये है कि शिकायत के मुताबिक, लड़की से ये कहा गया कि, आपके लिए आपका भविष्य बड़ा है या इनरवियर? इसे हटा दीजिए और हमारा समय बर्बाद ना करें. हालांकि, अब इस मामले में अभिभावक ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। इसके अलावा, परीक्षा के नियमों पर भी सवाल खड़े हो गए।

 

वहीं, अब ये समझना जरूरी हो जाता है कि क्या वाकई ऐसा कोई नियम है कि यहां मनमानी कर छात्राओं को परेशान किया गया?

 

दरअसल, NEET की परीक्षा में शामिल होने के लिए एक ड्रेस कोड तय है. NEET ब्राउशर में इसकी पूरी जानकारी दी गई है. ब्राउशर के मुताबिक, किसी भी उम्मीदवार को फुल स्लीव्स के कपड़े पहनकर परीक्षा देने की अनुमति नहीं है. उम्मीदवारों को चप्पल या हील की सैंडल पहने की इजाजत है लेकिन जूते पहनने की इजाजत नहीं दी गई है. इसी के साथ माला, ताबीज़ पहनने की अनुमति नहीं है. साथ ही एडवाइजरी में साफ ये भी लिखा गया है कि, जेवर या किसी भी प्रकार का मेटल पहने की इजाजत नहीं है. किसी भी तरीके की घड़ी, मोबाइल फोन, ब्रेसलेट हॉल में पहनकर जाने की परमिशन नहीं है.

इसके अलावा NTA ने एडवाइजरी में साफ लिखा है कि एग्जाम सेंटर पर उम्मीदवारों की तलाशी जरूर होगी. इस जांच में मेटल डिटेक्टर्स का इस्तेमाल किया जाएगा. इस घटना के बाद एनटीए ने एक बयान जारी कर परीक्षा केंद्र के सुपरिटेंडेंट, आब्जर्वर और सिटी को-ऑर्डिनेटर तत्काल जानकारी मांगी थी। इन तीनों ने अपने जवाब में कहा कि परीक्षा केंद्र में ऐसे कोई घटना सामने नहीं है और न ही उन्हें या एनटीए को कोई लिखित/ई-मेल पर शिकायत मिली है। जबकि कोल्लम ग्रामीण एसपी केबी रवि (Rural SP K B Ravi) ने पुष्टि की है कि पुलिस को एक स्टुडेंट के माता-पिता से इस संबंध में शिकायत मिली है।

 

शिक्षा मंत्री ने भी की निंदा

घटना केरल के कोल्लम में स्थित परीक्षा केंद्र से सामने आई। वहीं, केरल के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ, आर बिंदू ने भी इस घटना को “बेहद निंदनीय” बताया है। शिकायत में, पिता ने आरोप लगाया कि कोल्लम के अयूर में मार थोमा इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन एंड टेक्नोलॉजी में परीक्षा में भाग लेने वाले “कई छात्राओं” को अपने इनरवियर को हटाने के लिए मजबूर किया गया।

 

शिकायत में बताया गया है कि, यह शर्मसार करने वाली घटना है क्योंकि नीट की परीक्षा कराने वाली एजेंसी एनटीए (NTA) यानी राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी के द्वारा अनिवार्य मानदंडों के तहत ऐसा करने की कोई आवश्यकता नहीं है। हालांकि, परीक्षा केंद्र (Mar Thoma Institute) के एक प्रवक्ता ने कहा कि इस घटना के लिए एनटीए द्वारा छात्रों की तलाशी लेने वाली एजेंसी के कर्मचारी जिम्मेदार हैं। इसमें संस्थान शामिल नहीं था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.