June 27, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

Kisan Andolan: गाजीपुर बॉर्डर से नहीं हटाई गई कीलें! वीडियो वायरल होने के बाद दिल्ली पुलिस ने दिया स्पष्टीकरण

नई दिल्ली|एक ओर जहां दिल्ली-यूपी गेट स्थित गाजीपुर बॉर्डर पर तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर प्रदर्शन जारी हैं, वहीं सड़क पर लगाई गई कीलों को निकालने का वीडियो वायरल हुआ है। इस पर दिल्ली पुलिस का कहना है कि इन्हें निकाल कर दूसरी जगह पर लगाया गया है। यहां पर सुरक्षा व्यवस्थी पूर्व की तरह ही रहेगी। यहां पर बता दें कि किसानों के प्रदर्शन के चलते गाजीपुर बॉर्डर के आसपास दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। यहां पर सीमेंटेड बैरिकेडिंग लगाकर उन पर पुलिस बलों तैनात किया गया है। इसी के साथ गाजीपुर बॉर्डर पर राजधानी दिल्ली की ओर पुलिस ने सभी 14 लेन बंद कर 12 घेरे में बैरियर लगाकर घेरेदार तार लगा दिए हैं। इसके साथ ही सड़क पर कील भी लगाई गई है। इसका मकसद ट्रैक्टर अथवा अन्य वाहनों से आ रहे किसान प्रदर्शनकारियों को रोकना था।

वहीं, सुरक्षा के मद्देनजर लिंकरोड, गौड़ ग्रीन एवेन्यू कट और खोड़ा कट पर बैरियर लगाकर पुलिस बल तैनात है। इसके साथ दिल्ली गाजीपुर सर्विस रोड पर बन रहे सीएनजी पंप के पीछे खाली जमीन पर गड्ढा खोद दिया गया है, जिससे लोगों को परेशानी पेश आ रही है। बताया जा रहा है कि पत्रकारों-मीडियाकर्मियों को कई किलोमीटर का सफर तय करके गाजीपुर बॉर्डर जाना पड़ रहा है।

यह भी जानें

दिल्ली पुलिस ने गाजीपुर की ओर बैरियर, कटीले तार और सड़क पर कील लगवाकर दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे की सभी 14 लेन बंद कर दी। दिल्ली गाजीपुर से गाजियाबाद फ्लाईओवर के नीचे आने वाली सर्विस लेन पर भी बैरियर लगा कर तारबंदी कर दी है। साथ ही सड़क पर कील लगा दी है।

पुलिस ने सर्विस लेन के पास बन रहे सीएनजी पंप के पीछे खाली जमीन पर गड्ढे खोद दिए हैं। गड्ढा करीब 6 फुट गहरा और तीन फुट चौड़ा है। इससे कोई भी व्यक्ति पैदल दिल्ली की ओर नहीं जा सकता है। लिंकरोड पर डाबर तिराहे से यूपी गेट के बीच में तीन जगह पर पुलिस ने बैरियर लगाकर पीएसी तैनात की है।

 

प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए लगी कीलें
गौरतलब है कि गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली के दौरान दिल्ली में हुई हिंसा के बाद गाजीपुर में प्रदर्शनकारियों की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी। वहीं उन्हें दिल्ली में घुसने से रोकने के लिए भी प्रशासन ने सख्त इंतजाम किए थे। गाजीपुर बॉर्डर के चारों ओर सीमेंट से बैरिकेड बनाए गए। साथ ही सड़कों पर कीलें लगा दी गई थीं। इसके अलावा तारों से भी बॉर्डर को घेर दिया गया ताकि कोई पैदल भी सीमा पारकर दिल्ली की तरफ न जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.