August 9, 2022

Such Ke Sath

सच के साथ

Motivational Story: 10वीं में थर्ड डिविजन, लेकिन मजबूत इरादों के साथ अवनीश बनें IAS, शेयर की अपनी मार्कशीट

बिहार के रहने वाले छत्तीसगढ़ कैडर के आईएएस अधिकारी अवनीश शरण (Awanish Sharan board exam marksheet) ट्विटर पर काफी फेमस हैं. हाल ही में उन्होंने अपनी मार्कशीट ही ट्वीट कर दी जिसके बाद लोगों को पता चला कि वो स्कूल के समय कितनी पढ़ाई किया करते थे.

न्यूज डेस्क 10 जुलाई 2022|सिविल सेवाओं की परीक्षाएं कितनी मुश्किल होती हैं, इसके बारे में तो हर कोई जानता है मगर ये कम लोग जाते हैं कि इस मुश्किल परीक्षा को पास करने के लिए कितनी कड़ी मेहनत की जरूरत पड़ती है. आमतौर लोगों में ये धारणा होती है कि जो स्कूल में टॉपर होता है, वही इन परीक्षाओं में सफल हो सकता है. मगर इस धारणा को एक आईएएस अधिकारी (IAS officer class 10th marksheet) ने अपने एक ट्वीट से तोड़ दिया है और उन लोगों को मोटिवेट किया है जो स्कूल में कम मार्क्स लाने के बाद इन परीक्षाओं से डरकर कभी प्रयत्न करने की कोशिश भी नहीं करते हैं.

कहते हैं कि सफलता कभी अंकों की मोहताज नहीं होती है। अगर आप में काबिलियत और जज्बा है तो सफलता खुद-ब-खुद आपके पास आएगी। यह पंक्तियां चरितार्थ हो रही हैं छत्तीसगढ़ कैडर के एक आईएएस अधिकारी पर।

जीवन में मार्क्स ही सबकुछ नहीं होते। 10वीं 12वीं बोर्ड परीक्षाओं में मिले नंबर आपकी सफलता और काबिलियत तय नहीं करते। अगर आप स्कूल व कॉलेज लाइफ में एक औसत छात्र भी रहे हैं तो भी आप बुलंदियों के शिखर को छू सकते हैं। हाल में आईएएस ऑफिसर अवनीश शरण द्वारा सोशल मीडिया पर शेयर की गई 10वीं की मार्कशीट स्टूडेंट्स को इस संबंध में काफी प्ररेणा देने वाली है। बिहार बोर्ड मैट्रिक की 26 साल पहले की इस मार्कशीट में देखा जा सकता है कि अवनीश को 700 में से केवल 314 मार्क्स (44.5 फीसदी) मिले थे। मैथ्स में तो वह फेल होते होते बचे थे। 10वीं में थर्ड डिविजन से पास होने के बावजूद अवनीश यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा पास कर आईएएस ऑफिसर बने।

बिहार के रहने वाले छत्तीसगढ़ कैडर के आईएएस अधिकारी अवनीश शरण (Awanish Sharan board exam marksheet) ट्विटर पर काफी फेमस हैं. वो अक्सर रोचक ट्वीट करते हैं. कई बार उनके ट्वीट दूसरों को मोटीवेट भी करते हैं. हाल ही में उन्होंने अपनी मार्कशीट ही ट्वीट कर दी जिसके बाद लोगों को पता चला कि वो स्कूल के समय कितनी पढ़ाई किया करते थे. अवनीश ने अपनी 10वीं क्लास की मार्कशीट को सोशल मीडिया पर शेयर किया है जिसमें उनके अंक साफ नजर आ रहे हैं.

10वीं में बेहद कम अंक आने के बाद भी बने आईएएस
आपको बता दें कि आईएएस ऑफिसर बनने वाले अवनीश शरण जब 10वीं कक्षा में थे तो तृतीय श्रेणी (IAS officer passed 10th class with 3rd division) में पास हुए थे. अगर अंक की बात करें तो वो काफी कम थे. किसी को भी ये लग सकता है कि जो व्यक्ति सिविल सेवाओं को पास कर गया, वो जरूर स्कूल में भी कमाल करता होगा. मगर अवनीश की मार्कशीट देखकर ऐसा नहीं लग रहा है. उन्हें मैथ्स में 100 में से 31 अंक मिले थे जबकि 30 अंक ही पासिंग मार्क थे. वहीं सोशल साइंस में भी उनके अंक काफी कम थे और वो जैसे-तैसे ही पास हो पाए थे.

 

 

लोग मार्कशीट देख हुए मोटीवेट
साल 1996 की ये मार्कशीट ट्विटर पर वायरल हो चुकी है. इस फोटो को 21 हजार से ज्यादा लोगों ने लाइक किया है जबकि 2 हजार से ज्यादा लोगों ने इसे रीट्वीट किया है. कई लोग अपनी प्रतिक्रिया भी दे रहे हैं. एक शख्स ने कहा कि वो अवनीश के इस पोस्ट से काफी इंसपायर हुआ है. उसके भी बोर्ड परीक्षा में तृतीय श्रेणी के अंक थे और कम नंबर के चलते उसने यूपीएससी की तैयारी छोड़ दी थी. मगर अब उसने फिर से तैयारी करने का इरादा किया है. इस पोस्ट पर अवनीश शरण ने ‘बेस्ट ऑफ लक’ भी लिखा है.

 

क्यों शेयर की मार्कशीट?

आईएएस अधिकारी अवनीश शरण ने अपनी मार्कशीट शेयर कर संदेश दिया है कि किसी कक्षा में मेरिट पाने या बेहतर पर्सेंटेज स्कोर करने मात्र से जिंदगी में सफलता नहीं मिलती है। सफलता का अंकों या मार्कशीट से लेना-देना नहीं होता। हाल ही कई बोर्ड परीक्षाओं के रिजल्ट जारी हुए हैं। कई माता-पिता बच्चों के कम नंबर आने पर डांट लगाते हैं जोकि अनुचित है। अगर, उन बच्चों को सकारात्मकता के साथ मार्ग दिखाया जाए तो वे भी परिवार का नाम रोशन कर सकते हैं।

आईएएस अवनीश शरण का जीवन संघर्षों से भरा रहा है. उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया था कि उनके घर में बिजली की सुविधा नहीं थी और कैसे वे लालटेन की रोशनी में पढ़ा करते थे. वे बिहार के समस्तीपुर जिले केवटा गांव के रहने वाले हैं. पिता और दादाजी दोनों ही शिक्षक थे. आईएएस शरण का एक ध्येय वाक्य है, ‘हमें एक जिंदगी मिलती है, जितना हो सके अच्छे काम करते रहने चाहिए.’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.