December 4, 2020

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

UP:अयोध्या की सीमाएं सील, दीपोत्सव की तैयारियां पूरी; बनेगा ये नया वर्ल्ड रिकॉर्ड

दीपोत्सव पर इस बार भगवान राम की नगरी अयोध्या 5 लाख 51 हजार से ज़्यादा दीपों से जगमगाएगी और गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अयोध्या अपना नाम दर्ज कराएगा.

अयोध्या: अयोध्या (Ayodhya) में श्रीराम मंदिर के भूमि पूजन के बाद इस बार की दीवाली को और ज्यादा खास बनाने की तैयारी है. अयोध्या दीपोत्सव (Deepotsav) को लेकर सारी तैयारियां पूरी हो गई हैं. 11 नवंबर से ही दीपोत्सव की शुरुआत हो गई है. राम की पैड़ी पर भव्य दीपोत्सव कार्यक्रम 13 नवंबर को आयोजित होगा. राम जन्मभूमि परिसर में पहली बार 11 हजार से ज्यादा दीपक जगमगाएंगे. वहीं, राम की पैड़ी पर साढ़े पांच लाख दीपक जलाकर नया वर्ल्ड रिकॉर्ड (World Record) बनाने की तैयारी है. इस बीच 11 नवंबर से ही अयोध्या की सीमा सील कर दी गई है.

इस  बार अयोध्या में 24 घाटों पर छह लाख दीये प्रज्वलित किए जाएंगे, जिनमें 29 हजार लीटर तेल इस्तेमाल होगा. दीयों की रोशनी से जगमग अयोध्या को जगमग करने के लिए 7.5 लाख किलो रुई का इस्तेमाल भी होगा. राममंदिर बनने के निर्णय के बाद से दीपोत्सव के लिए रामनगरी के साधु-संत और भक्त उत्साहित हैं. अयोध्या में त्रेतायुग जैसी दीवाली मनाने की परंपरा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 2017 में शुरू की थी, तब से हर साल यहां दीप प्रज्वलन का नया रिकॉर्ड बन रहा है.


 दीपोत्सव पर इस बार भगवान राम की नगरी अयोध्या 5 लाख 51 हजार से ज़्यादा दीपों से जगमगाएगी और गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अयोध्या अपना नाम दर्ज कराएगा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 2017 में अयोध्या में दीपोत्सव मनाने की शुरुआत की थी, और 1 लाख 65 हजार दीप जलाए गए थे. वर्ष 2018 में 3 लाख 150 दीप जलाकर विश्व रिकॉर्ड बनाया गया था. इसके बाद 2019 में 5 लाख 51 हजार दीप जलाकर विश्व रिकॉर्ड बना था.

हेलीकॉप्टर से अयोध्या आएंगे भगवान राम
13 नवंबर को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की अगुवाई में राम कथा पार्क पर भगवान श्री राम, लक्ष्मण और सीता पुष्पक विमान हेलीकॉप्टर से अयोध्या आएंगे. जहां उनका स्वागत होगा. भरत मिलाप का कार्यक्रम होगा, राज्याभिषेक होगा.

दीपोत्सव में 11 झांकियां
दीपोत्सव के दौरान झांकियां भी लगाई जाएंगी. जिसमें 11 झांकियों के माध्यम से भगवान राम के जन्म से लेकर लंका दहन तक के प्रसंग दिखाए जाएंगे. इनमें 2 झांकियां विशेष मानी जा रही हैं. पहली झांकी अहिल्या उद्धार के माध्यम से नारी सशक्तिकरण को समर्पित है, तो दूसरी झांकी हनुमान जी के लंका के दहन प्रसंग की होगी. जिसके माध्यम से राज्य सरकार द्वारा आपराधिक तत्वों के खिलाफ हो रही कार्रवाई का संदेश जाएगा.

दीपोत्सव कार्यक्रम में दिनांक 12,13 नवम्बर 2020 को अयोध्या क्षेत्र में निम्न यातायात डायवर्जन लागू ।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Powered By : Webinfomax IT Solutions .
EXCLUSIVE