January 22, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

UP:आजम खां के मुकदमे में भी हारेगी भाजपा सरकार, पोल खुलनी हुई शुरू:अखिलेश यादव

लखनऊ |समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार के झूठ की पोल खुलनी शुरू हो गई है। सरकार को आजम खां के मामले में भी हार मिलेगी और उन्हें इंसाफ मिलेगा।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के चल रहे ‘किसान सम्मेलन’ का मुकाबला करने के प्रयास में समाजवादी पार्टी (सपा) 25 दिसंबर को एक विशेष अभियान आयोजित करने की तैयारी में है। इसके तहत पार्टी के नेता पूरे उत्तर प्रदेश के गांवों का दौरा करेंगे और भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार की ‘किसान विरोधी नीतियों’ के बारे में लोगों को जागरूक करेंगे। सपा प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि पार्टी के नेता गांवों में जाएंगे और किसानों के साथ ‘चौपाल’ (बैठकें) करेंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘सपा सांसद और विधायक ‘समाजवादी किसान घेरा’ अभियान का नेतृत्व करेंगे। नेता राज्य में पिछली समाजवादी पार्टी सरकार की उपलब्धियों और किसानों के लिए किए गए कल्याणकारी कार्यों के बारे में भी किसानों को अवगत कराएंगे।’’ चौधरी ने आरोप लगाया कि केंद्र और राज्य में भाजपा की सरकारें किसानों को बर्बाद करने की दिशा में काम कर रही हैं। उन्होंने कहा, ‘‘यह एक विडंबना है कि ‘अन्नदाता’ ठंड में कांप रहा है और बात करना चाहता है, लेकिन प्रधानमंत्री अपने ‘मन की बात’ में व्यस्त हैं।’’

सपा आक्रामक रूप से केंद्र के तीन विवादास्पद कृषि कानूनों के खिलाफ अपने आंदोलन को आगे बढ़ा रही है। सपा 7 दिसंबर से ‘किसान यात्रा’ का आयोजन कर रही है, जिसमें राज्य भर में पार्टी कार्यकर्ता और नेता, भाजपा की किसान-विरोधी नीतियों के बारे में किसानों को जागरूक करने के लिए पैदल, साइकिल और मोटरसाइकिल पर निकल रहे हैं। पार्टी प्रवक्ता ने कहा, ‘‘यह रैलियां भाजपा की किसान विरोधी नीति के खिलाफ हैं और प्रत्येक जिले में निकाली जा रही हैं।’’ भाजपा राज्य भर में ‘किसान सम्मेलन’ आयोजित कर रही है और सपा के नेता इन आयोजनों के माध्यम से लोगों को संबोधित कर रहे हैं, ताकि ‘विपक्ष द्वारा किए जा रहे गलत प्रचार’ को दूर किया जा सके। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सभी सार्वजनिक कार्यों में किसानों के मुद्दों को संबोधित किया है, जबकि उत्तर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी किसान समूहों के साथ बैठकें कर रहे हैं।

बता दें कि रामपुर के सपा सांसद आजम खान इस समय सीतापुर जेल में बंद हैं और उन पर कई मुकदमे दर्ज हैं।


अखिलेश यादव ने सोमवार को ट्वीट किया, ’जिस प्रकार हाथरस कांड में भाजपा सरकार के झूठ की पोल खुली है, उससे उत्तर प्रदेश में झूठे मुकदमों की कलई खुलनी शुरू हो गयी है। न्यायपालिका और लोकतंत्र में विश्वास रखते हुए हमें पूरा भरोसा है कि आजम खान साहब के खिलाफ झूठे मुकदमे में भी राज्य सरकार को हार मिलेगी और उन्हें बहुत जल्द इंसाफ मिलेगा।’

आजम खां की पत्नी डॉ. तजीन फात्मा जेल से रिहा, पति और बेटे के साथ 300 दिन तक जेल में रहीं

सपा सांसद आजम खां की पत्नी और रामपुर शहर सीट से विधायक डॉ. तजीन फात्मा 300 दिनों के बाद सोमवार की शाम सीतापुर की जेल से जमानत पर बाहर आ गईं। डॉ. फात्मा के खिलाफ 34 मुकदमे दर्ज हैं, इन सभी में उनको जमानत मिल चुकी है। 


शुक्रवार को कोर्ट ने दो मामलों में उनकी उम्र और बीमारी को देखते हुए जमानत मंजूर की थी। इसके बाद उनकी रिहाई का रास्ता साफ हो गया था। मुकदमे दर्ज होने के बाद कोर्ट में हाजिर न होने पर सांसद आजम खां, डॉ. तजीन फात्मा और अब्दुल्ला आजम के खिलाफ कुर्की का आदेश जारी हो गया था। 

इसके बाद तीनों ने 26 फरवरी को कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया था। एक रात रामपुर जेल में रखने के बाद प्रशासन ने सुरक्षा कारणों से तीनों को अगले ही दिन सीतापुर की जेल भेज दिया था, तभी से तीनों सीतापुर जेल में थे। शुक्रवार को दो मामलों में जमानत मिलने के बाद विधायक डॉ. तजीन फात्मा की रिहाई का रास्ता साफ हो गया था। सोमवार को रामपुर से परवाना सीतापुर की जेल भेज दिया गया था। उनके जेल से रिहा होने की संभावना के मद्देनजर डॉ. फात्मा के पुत्र अदीब आजम, बहूसिदरा, सपा जिलाध्यक्ष अखिलेश कुमार, पूर्व विधायक विजय सिंह और पूर्व जिलाध्यक्ष ओमेंद्र सिंह चौहान समेत उनके कई समर्थक सीतापुर की जेल पहुंच गए थे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.