August 4, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

UP:देवरिया पहुंचे CM योगी, कोविड अस्‍पताल के ऑडिट कंट्रोल रूम में जाकर पूछा मरीजों का हाल-चाल; व्यवस्था से काफी संतुष्ट नजर आए सीएम

देवरिया|मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को 11:15 बजे जिला महिला अस्पताल परिसर स्थित कोविड-19 अस्पताल एमसीएच विंग का निरीक्षण किया। उन्होंने सबसे पहले निर्माणाधीन ऑक्सीजन प्लांट का जायजा लिया और इसे शीघ्र शुरू करने का निर्देश दिया। इसके बाद ऑडिट कंट्रोल रूम में पहुंचकर भर्ती मरीजों के बारे में सीएमओ डा. आलोक पाण्डेय व इलाज करने वाले डॉक्टर डॉ राहुल त्रिपाठी से जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि 250 बेड केएमसीएच विंग में सभी मरीजों को ऑक्सीजन देने की सुविधा है। इसके अलावा गंभीर मरीजों के लिए 26 बेड का आईसीयू की व्यवस्था की गई है। वेंटिलेटर का संचालन करने को आठ ऑपरेटर को तैनात किया गया है। सीएम ने कंट्रोल रूम में स्थित कोविड-19 डेस बोर्ड पर भर्ती मरीजों के बारे में जानकारी ली। कितने सामान्य तथा कितने गंभीर मरीज भर्ती हैं इसके बारे में सीएमओ डॉक्टर आलोक पांडे ने मुख्यमंत्री को बताया। उन्होंने बताया कि गंभीर मरीजों के इलाज और देखरेख के लिए 5 बेहोशी के डॉक्टर तैनात किए गए हैं।

एमसीएच विंग में थर्ड फ्लोर पर कुल 11 वार्ड में 250 बेड लगाये  गए हैं। वर्तमान समय में 6 वार्ड में मरीज 56 मरीज भर्ती हैं. मुख्यमंत्री ने कोरोना की तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए कोविड की चपेट में आने वाले बच्चों का इलाज करने को अलग से वार्ड बनाने तथा 250 बेड में से 100 बेड कोविड-19 मरीजों तथा 150 बेड पोस्ट कोविड मरीजों के लिए रखने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री अस्पताल की व्यवस्था से काफी संतुष्ट नजर आए और उन्होंने डाक्टरों व पैरामेडिकल स्टाफ को शाबाशी दी।

देवरिया में लगेंगे चार ऑक्सीजन प्लांट, खुलेगा बीस बेड का पिक्कू अस्पताल

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश के हर जिले को ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है। देवरिया में चार नए ऑक्सीजन प्लांट लगाने की प्रक्रिया चल रही है। प्रदेश में 300 से अधिक आक्सीजन संयंत्र लगाए जाने की तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। तीसरी लहर को देखते हुए देवरिया एवं लार में बीस-बीस बेड का पिक्कू वार्ड बनाया जाएगा। उन्होंने सांसद, विधायकों से अपने इलाके के एक सीएचसी-पीएचसी को गोद लेकर उसे मॉडल बनाने की अपील की।

मुख्यमंत्री बुधवार को विकास भवन परिसर में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोरोना की सेकेंड वेव के बारे में विशेषज्ञ यूपी में कई प्रकार की आशंका जता रहे थे। हमने टीम वर्क और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बताए ट्रिपल टी (ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट) का मंत्र अपनाए रखा। इसके अपेक्षित और व्यापक परिणाम आए हैं। आज यूपी देश में सर्वाधिक कोरोना टेस्ट कराने वाला राज्य है। हम आज की तारीख में चार करोड़ 77 लाख कोरोना जांच करा चुके हैं। प्रदेश में संक्रमण का फैलाव रोकने के लिए गांव से मोहल्लों तक अर्ली एंड अग्रेसिव कैंपेन चलाया गया। इससे लगातार सफलता मिल रही है। 30 अप्रैल को पीक टाइम पर कोरोना के कुल एक्टिव केस 3.10 लाख थे, जो आज 62 हजार के आसपास आ गए हैं।

मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में पॉजिटिविटी औसतन तीन फीसद के आसपास रह गई है। जबकि कोविड से रिकवरी रेट 95 फीसद हो गई है। इसमें लगातार सुधार हो रहा है। उन्होंने बताया कि देवरिया जिले की समीक्षा में पॉजिटिविटी रेट तीन फीसद के करीब और रिकवरी रेट 93 फीसद से अधिक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जीवन के साथ जीविका की रक्षा के लिए हमने लॉकडाउन के बजाय आंशिक कोरोना कर्फ्यू को अपनाया। इससे कृषि क्षेत्र, फल व सब्जी मंडियों व अन्य सभी आवश्यक क्षेत्रों में कोई दिक्कत नहीं आई।

इसके पूर्व मुख्यमंत्री ने कतरारी गांव और मझगांवा पीएचसी का दौरा किया। जिला अस्पताल में बने कोविड अस्पताल के मरीजों को सीसीटीवी कैमरा के माध्यम से देखा और बेहतर इलाज के लिए अफसरों को निर्देशित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.