October 27, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

UP: अखिलेश यादव ने दुबारा भरा 400 सीटों का दम, बोले-इस बार बीजेपी हो जाएगी साफ

लखनऊ |समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष और पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने एक बार फिर यूपी विधानसभा चुनाव में चार सौ से अधिक सीटें जीतने का दावा किया है। गुरुवार को जनक्रांति यात्रा के समापन समारोह में अखिलेश ने कहा कि यह यात्रा जिन इलाकों से होकर निकली है वहां पर भाजपा का सफाया हो जाएगा। उन्‍होंने कहा कि इसलिए समाजवादियों ने इस बार 400 पार का नारा चुना है।

अपने पिता और सपा के संरक्षक पूर्व मुख्‍यमंत्री मुलायम सिंह यादव के अचानक कार्यालय पहुंचने से उत्‍साहित अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर कई हमले बोले। उन्‍होंने कहा कि किसान की आय दोगुनी नहीं हुई लेकिन सिलेंडर की कीमत कितनी हुई? दोगुनी हुई की नहीं हुई। भाजपा से जनता त्रस्त है। किसानों की कर्जमाफी का वादा पूरा नहीं किया। सिलेंडर महंगा हो गया है। डीजल, पेट्रोल महंगा हो गया है। भाजपा के केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरसों के तेल में मिलावट नहीं कर पा रहे हैं इस वजह से महंगा है। मिलावट करके महंगाई को कम करना चाहिए। ऐसी सरकार नहीं चाहिए। भ्रष्टाचार लगातार बढ़ रहा है।

 

लम्‍बे समय बाद कार्यकर्ताओं के बीच पहुंचे मुलायम सिंह यादव भी इस मौके पर अपने पुराने रंग में दिखे। सफेद कुर्ता-धोती और सिर पर लाल टोपी, कार्यकर्ताओं ने वर्षों बाद अपने नेता को इस तरह देखा तो उत्‍साह से भर गए। मुलायम सिंह ने कहा कि सपा की सरकार बनाकर इस क्रांति यात्रा का मकसद पूरा करें। उन्होंने कहा कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि पूरे प्रदेश में अलग-अलग यात्राएं चल रही है। एक यात्रा का समापन सैफई में हो चुका है और आज जन क्रांति पार्टी की यात्रा का समापन हो रहा है।

 

पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव को उनके चाचा शिवपाल सिंह यादव ने माफियाओं के लिए समाजवादी पार्टी के दरवाजे न खोलने की नसीहत दी है। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के संस्‍थापक शिवपाल यादव ने कहा कि माफियाओं के परिवार के सदस्‍य भी पार्टी में नहीं लिए जाने चाहिए।

शिवपाल ने दावा किया जब वह समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्‍यक्ष थे तो ऐसे लोगों को कभी भी पार्टी में आने की इजाजत नहीं दी गई थी। गौरतलब है कि शिवपाल यादव ने अपने भतीजे अखिलेश यादव से मतभेदों के चलते पार्टी छोड़ दी थी। इसके बाद उन्‍होंने अपनी खुद की पार्टी बनाई। उन्‍होंने कहा, ‘माफिया कभी भी समाजवादी पार्टी में नहीं आए। उन्‍हें अब भी नहीं लिया जाना चाहिए। मैंने भी किसी को नहीं लिया था। जब मैं सपा का प्रदेश अध्‍यक्ष था तो कोई माफिया हमारे पास नहीं फटकने पाया। हमने मुख्‍तार अंसारी को कभी नहीं लिया।’

 

 

बुधवार की शाम पत्रकारों से बातचीत में शिवपाल सिंह यादव ने ये बातें तब कहीं जब उनसे डॉन से अपराधी बने मुख्‍तार अंसारी के भाई सिबगतुल्लाह अंसारी के सपा में शामिल होने को लेकर सवाल किया गया। उन्‍होंने कहा, ‘मैंने सिबगतुल्लाह अंसारी और अफजाल अंसारी को सपा में लिया था लेकिन बाद में उन्‍हें पार्टी छोड़नी पड़ी।’ अखिलेश यादव 2016 में दोनों को पार्टी में लिए जाने के खिलाफ थे। उधर, भाजपा ने भी मुख्‍तार अंसारी के भाई को पार्टी में लिए जाने को लेकर अखिलेश यादव पर यह कहते हुए हमला बोला कि सपा माफियाओं की मदद के बिना चल ही नहीं सकती।

क्‍या वह सपा में लौट सकते हैं? इस सवाल पर शिवपाल यादव ने कहा कि यदि मुझे उचित सम्‍मान मिलेगा तो समाजवादी परिवार में लौटने के बारे में सोच सकता हूं। उन्‍होंने यूपी की भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पिछले साढ़े चार साल के कार्यकाल में प्रदेश में भ्रष्‍टाचार पांच गुना बढ़ गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.