April 21, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

UP: देवरिया जिले के ऑटो रिक्‍शा ड्राइवर की बेटी मान्‍या सिंह ने हासिल किया मिस इंडिया रनर अप का खिताब, साझा की संघर्षों से भरी दास्‍तां

देवरिया|वह विज्ञापन तो आपको याद ही होगा जिसमें एक युवा लड़की चमकदार सफेद शर्ट पहने पहले दिन अपने शानदार नए ऑफिस में ऑटो रिक्‍शा से पहुंचती है और जब उससे उसकी पसंद की सवारी के बारे में पूछा जाता है तो वह फख्र से बताती है कि ऑटो ड्राइवर उसके पिता हैं। इस विज्ञापन ने बहुतों के दिलों को छुआ। हालांकि अब ऐसी ही एक कहानी हकीकत बनकर सामने आई है। हाल में वीएलसीसी फेमिना मिस इंडिया 2020 रनर अप का खिताब जीतने वाली मान्‍या सिंह की कहानी इससे मिलती जुलती है।

मान्‍या ओमप्रकाश सिंह ने अपनी जिंदगी की यह प्रेरणादायक कहानी साझा की है। उनके पिताजी भी एक ऑटो ड्राइवर रहे। पुराने दिनों को याद करते हुए मान्‍या सिंह बताती हैं कि उन्‍हें कई रातें बिना भोजन किए और बिना नींद के गुजारनीं पड़ीं।

 

भगवान बुद्ध की परिनिर्वाण स्‍थली उत्‍तर प्रदेश के कुशीनगर में जन्‍मीं मान्‍या ओमप्रकाश सिंह एक ऑटो रिक्‍शा ड्राइवर की बेटी हैं। मान्‍या का बचपन आसान नहीं था। उन्‍होंने इस बारे में अपनी एक इंस्‍टाग्राम पोस्‍ट में बताया है। इस पोस्‍ट में उनके परिवार की कई तस्‍वीरें भी उन्‍होंने साझा की हैं। इन तस्‍वीरों के साथ उन्‍होंने एक लम्‍बा प्रेरणादायी नोट लिखा है। इसमें उन्‍होंने अपनी मां के बारे में बताया है कि किस तरह मान्‍या की पढ़ाई पूरी कराने के लिए उन्‍हें अपने गहने गिरवी रखने पड़े। कैसे उन्‍हें सिर्फ अपने अस्तित्‍व बनाए रखने के घर छोड़कर तरह-तरह की नौकरियां करनी पड़ीं।

 

 

मान्‍या ने कैप्‍शन में लिखा है, ‘ कई बार ऐसे भी गुजारा हआ जब मुझे पूरी रात बिना खाने और नींद के गुजारनी पड़ीं। कई दुपहरिया मीलों पैदल चलना पड़ा था।’ अपनी जिंदगी के संघर्ष के बारे में बात करते हुए मान्या ने कहा, ‘मेरा खून, पसीना और आंसू मेरी आत्मा के लिए खाना बने और मैंने सपने देखने की हिम्मत जुटाई। मैंने कम उम्र में ही नौकरी करना शुरू कर दिया था। जो भी कपड़े मेरे पास थे, दूसरों के दिए हुए थे। मुझे किताबें चाहिए थीं लेकिन किस्मत मेरे हक में नहीं थी।’ मान्या ने बताया, ‘बाद में मेरे मां-बाप ने जो भी जेवर हमारे पास थे, उन्हें बेचकर मुझे पढ़ाया।’ मान्‍या ने कहा,’मेरी मां ने मेरे लिए बहुत कुछ सहा है। अपनी प्रेरणादायक जर्नी को शेयर करते हुए मान्या सिंह ने कहा, ’14 साल की उम्र में सबकुछ छोड़कर भाग गई थी। मैं दिन में किसी तरह पढ़ती थी। शाम को बर्तन धोने जाती थी। रात को कॉल सेंटर में काम करती थी। मैं रिक्शे के पैसे बचाने के लिए घंटों पैदल चली हूं।’ मान्या ने आगे कहा, ‘मैंने अपने पिता, मां और भाई की स्थिति ठीक करने के लिए बहुत कुछ किया है और आज मैं यहां हूं, दुनिया को दिखाने के लिए कि आप ठान लो तो कुछ भी कर सकते हो, बस खुद पर विश्वास और मेहनत करने की इच्छा होनी चाहिए।

मिस इंडिया फर्स्‍ट रनर अप मान्‍या पर अपने कालेज में हुई फूलों की बारिश, ताज छूने को बेताब दिखीं छात्राएं

फेमिना मिस इंडिया 2020 में फर्स्ट रनर अप रहीं मान्या सिंह बुधवार को देवरिया में अपने कालेज पहुंचीं। वहां वे छात्राओं के बीच आकर्षण का केंद्र बन गईं। छात्राएं उनके ताज को छूने, उनसे बात करने को बेताब दिखीं। इस बीच मान्‍या के ऊपर फूलों की बारिश भी की गई। इस माहौल में मान्‍या भावुक नज़र आईं।

 

 

देवरिया के देसही देवरिया स्थित लोहिया इंटर कालेज सहवां पहुंची मान्‍या का कालेज के छात्रों ने जोरदार स्वागत किया। मान्‍या का काफिला जैसे ही कालेज गेट पर पहुंचा, लोग फूलों की बारिश करने लगे। उधर,  छात्र- छात्राओं के बीच ‘मान्या दीदी बधाई हो’, की गूंज सुनाई देती रही। मान्‍या के साथ, मां मनोरमा सिंह और पिता ओमप्रकाश सिंह भी थे। कालेज के प्रबंधक अनिल सिंह ने भी उनका स्वागत किया। इससे पहले रामपुर गौनरिया चौराहे पर नागरिकों ने स्वागत किया। मान्या कालेज के अंदर पहुंचकर कालेज के संस्थापक पूर्व विधायक स्व. नंद किशोर सिंह की प्रतिमा पर फूल अर्पित किए। मान्‍या ने कालेज के छात्रों से हाथ मिलाकर अभिवादन किया। इस दौरान मान्‍या ने कहा कि बेटियां अपने को कमजोर न समझें। पढाई को जारी रखें। कोई भी कामयाबी लगन व परिश्रम से मिलती है। किसी काम को छोटा नहीं समझना चाहिए।

 

 

मान्या सिंह को देवरिया के कलिंद इंटरमीडिएट कालेज में सम्मानित किया गया। इस दौरान लोगों ने फूल, माला, बुके और स्मृति चिन्ह प्रदान किए। विद्यालय के छात्र उन्हें देख कर खुशी से झूमते रहे। सैंथवार मल्ल महासभा की तरफ से मान्या सिंह का सम्मान समारोह आयोजित किया गया था।

देवरिया पहुंची मिस इंडिया रनर अप माल्या सिंह सीधे विद्यालय में बने मंच पर पहुंचीं। पिता ओमप्रकाश सिंह और माता मनोरमा सिंह भी मान्या के साथ थीं। स्वागत समारोह को संबोधित करते हुए मान्या सिंह ने कहा कि कुछ करने का जुनून हो तो मेहनत और दृढ़ संकल्प से हासिल किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि मेरे रास्ते में बहुत सी बाधाएं आयीं, परंतु अपनी सरलता बनाए रखकर परिश्रम करते हुए मंजिल हासिल करने में कामयाब हुई। इसकी का परिणाम है कि परिवार के साथ समाज का भी आशीर्वाद मिल रहा है। समारोह की अध्यक्षता महासभा के अध्यक्ष दिग्विजय नाथ सिंह ने की। इससे पूर्व विद्यालय की ओर से प्रधानाचार्य वकील सिंह ने भगवान बुद्ध की भव्य प्रतिमा और गुलदस्ता वीएलसीसी मिस इंडिया रनर अप मान्या सिंह को भेंट किया।

छात्राओं ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया। मान्या का स्वागत करने वालों में सैंथवार मल्ल महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल कुमार मल्ल, मीडिया प्रभारी नीरज सिंह, पूर्व अध्यक्ष आरए सिंह, धर्मेंद्र सिंह, राजेंद्र मल्ल, अनिल सिंह, संजय सिंह, रणविजय, छोटे सिंह, रामानंद सिंह शामिल रहे। इस दौरान डॉ. अवधनारायण सिंह, चंद्रदेव सिंह, कमलेश मिश्र, धनंजय राव, विनय सिंह, सुबाष राय, बाबूराम सिंह, वीपी सिंह, विजय शंकर सिंह, संगीता सिंह, प्रियंका गुप्ता, अंकिता तिवारी, श्रीनिवास सिंह, सुरेंद्र प्रताप शाही, लालबाबू यादव, जितेंद्र जायसवाल, महेंद्र आंबेडकर, रामप्रवेश सिंह, लालमोहन सिंह, कमलेश सिंह, अंकिता त्रिपाठी, अमरनाथ सिंह मौजूद रहे।

मिशन शक्ति के तहत टीएसआई ने किया स्वागत

नारी सशक्तिकरण का प्रतीक मानते हुए टीएसआई रामवृक्ष यादव ने अपने सहयोगियो संग मान्या सिंह का स्वागत किया। टीएसआई अपने हाथ में मिशन शक्ति का बैनर लिए हुए थे। इस पर नारी सुरक्षा, नारी सम्मान व नारी स्वावलंबन लिखा हुआ था।

हनुमान मंदिर के महंत परमात्मा दास ने दिया आशीर्वाद

समारोह में पहुंचे मनोकामनापूर्ण हनुमान मंदिर के महंत परमात्मादास ने मान्या सिंह को शाल भेंट किया और ढेरों आशीर्वाद दिया। आशीर्वाद पाकर मान्या सिंह गदगद हो उठीं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CCC Online Test 2021 CCC Practice Test Hindi Python Programming Tutorials Best Computer Training Institute in Prayagraj (Allahabad) Best Java Training Institute in Prayagraj (Allahabad) Best Python Training Institute in Prayagraj (Allahabad) O Level NIELIT Study material and Quiz Bank SSC Railway TET UPTET Question Bank career counselling in allahabad Sarkari Naukari Notification Best Website and Software Company in Allahabad Website development Company in Allahabad
Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.