January 17, 2021

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

UPSC result 2019: डॉक्टर की नौकरी छोड़ अनुपमा ने पहली बार में ही पायी सफलता, बनी IAS

रांची| किसी ने सही कहा है कि अगर जज्बा और जुनून हो तो आप वह सब कुछ पा सकते हैं जिसको पाने के लिए लोग सालों लगा देते हैं। कुछ ऐसा ही कमल कर दिखाया है रांची में रहने वाली अनुपमा सिंह ने। जिन्होंने अपने पहले अटेंप्ट में ही संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा यानी यूपीएससी पास कर ली है। वह देश में 90वां रैंक हासिल कर आईएएस अफसर बन गई हैं।

यूपीएससी के रिजल्ट में पटना कंकड़बाग की रहनेवाली डॉ. अनुपमा सिंह को भी सफलता मिली है। इन्होंने पहले ही प्रयास में 90वां रैंक हासिल किया। वे बताती हैं कि मेडिकल साइंस में एमएस की डिग्री बीएचयू दे लिया। इसके बाद नौकरी छोड़कर 2018 में दिल्ली यूपीएससी की तैयारी करने चली गई।

उन्होंने कहा कि मेडिकल की डिग्री के बाद उन्होंने एम्स पटना, एनएमसीएच में काम भी किया है। एमबीबीएस की डिग्री पीएमसीएच से ली। वे कहती हैं कि काम के दौरान ही लगा कि एक डॉक्टर होने के नाते आप दवाइयां लिख सकते हैं, लोगों को सलाह दे सकते हैं लेकिन हेल्थ में कई ऐसी चीजें हैं जिसमें आप कुछ नहीं कर सकते। कई ऐसी समस्याएं हैं जिसे प्रशासनिक स्तर पर ही हल किया जा सकता है। यही वजह है कि प्रशासन के साथ मेडिकल की डिग्री का इस्तेमाल करने की बात मैंने सोचा और यूपीएससी की तैयारी शुरू की। उनके पति डॉ. रवींद्र कुमार आईजीआईएमएस में चाइल्ड स्पेशलिस्ट हैं।

बेटा होने के बाद अनुपमा ने यूपीएससी की तैयारी की थी। इसके बाद सफलता हासिल हुई है। उन्होंने कहा कि मोटिवेटेड रहकर और स्ट्रेटजी के साथ तैयारी करने पर सफलता जरूर मिलती है। साक्षात्कार में उनसे सिचुएशन बेस्ड प्रश्न ज्यादा पूछे गए थे। उनके पिता योगेंद्र प्रसाद आलमगंज में रहते हैं वे एमआर थे अभी रिटायर कर चुके हैं। उन्होंने नए तैयारी करने वालों को संदेश दिया कि सफलता प्राप्त करने का कोई शॉर्टकट नहीं होता। आपको सफलता प्राप्त करने के लिए एकाग्रता व पूरी ईमानदारी के साथ मेहनत करनी होगी। सबसे महत्वपूर्ण त्याग करना पड़ता है।

 

 

IAS बनने के लिए छोड़ दी डॉक्टरी की नौकरी
दरअसल, अनुपमा सिंह मूल रूप से बिहार के नालंदा की रहने वाली हैं, अभी वह रांची में अपने डॉक्टर पति के साथ रहती हैं। बता दें कि उन्होंने यूपीएससी की तैयारी के लिए अपनी डॉक्टर की नौकरी तक छोड़ दी थी। उनको खुद पर इतना यकीन था कि पहले ही प्रयास में ये सफलता हासिल कर ली।

 

 

ऐसे बचपन के सपने को किया पूरा
अनुपमा सिंह ने पटना के पीएमसीएच से एमबीबीएस की पढ़ाई की और आईजीआईएमएस, पटना में गाइनी विभाग में डॉक्टर रहीं। 6 महीने नौकरी करने के बाद उनका जॉब में मन नहीं लगा और रिजाइन कर दिया। क्योंकि उनका बचपन से आईएएस अफसर बनने का सपना था। फिर वह यूपीएससी की तैयारी करन के लिए राजधानी दिल्ली चली गईं। जहां उन्होंने इसके बाद दिन रात एक करके पढ़ाई की

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Newsphere by AF themes.