December 5, 2020

Such Ke Sath

सच के साथ – समाचार

US Election: बाइडेन की ‘बढ़त’ के बीच विदेश मंत्रालय की प्रतिक्रिया, ‘भारत-अमेरिकी संबंधों की बुनियाद बेहद मजबूत’

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ‘हाउडी मोदी’ प्रोग्राम में ‘अबकी बार ट्रंप सरकार’ (Donald Trump) का नारा बुलंद किया था.

नई दिल्ली |US Election 2020: अमेरिका के रुझान बता रहे हैं कि जो बाइडेन  (Joe Biden) अगले राष्‍ट्रपति (US President Election 2020) बनने जा रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ‘हाउडी मोदी’ प्रोग्राम में ‘अबकी बार ट्रंप सरकार’ (Donald Trump) का नारा बुलंद किया था. बाइडेन के राष्ट्रपति बनने की सूरत में क्या विदेश मंत्रालय को अतिरिक्त मेहनत करनी पड़ेगी ताक़ि बाइडन उस नारे को भारत के साथ रिश्तों में आड़े न आने दें?इस सवाल और इससे जुड़े तमाम सवालों पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने सधी हुई प्रतिक्रिया दी. उन्‍होंने कहा, ‘आपकी तरह हम भी चुनाव के नतीजों का इंतज़ार कर रहे हैं. इतना बता सकते हैं कि भारत और अमेरिका के संबंधों की बुनियाद बहुत मज़बूत है. हमारा सहयोग हरसंभव क्षेत्र में है. रणनीतिक, सुरक्षा, निवेश, व्यापार से लेकर पीपल टू पीपल संबंधों में भी. हमारा ग्लोबल स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप को वहां के दोनों दलों से मजबूत सहयोग प्राप्त है. वहां के हर राष्ट्रपति और प्रशासन ने इसे और उंचा उठाया है.

जो बाइडेन ने कहा-कोई संदेह नहीं है कि मुझे विजेता घोषित किया जाएगा

गौरतलब है कि डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन जॉर्जिया प्रांत में मतगणना में अपने रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी ट्रंप से आगे हो गए हैं. ट्रंप के लिए जॉर्जिया प्रांत में जीतना जरूरी है. यह लंबे समय से रिपब्लिकन पार्टी का गढ़ रहा है, लेकिन बाइडेन यहां से आगे चल रहे हैं. बाइडेन को ट्रंप से 917 वोट की बढ़त है.

इस मुकाबले में जीत किसकी होगी यह कहना अभी जल्दबाजी होगी क्योंकि हजारों वोटों की गिनती अभी बाकी है.बाइडेन 270 इलेक्टोरल कॉलेज वोट की ओर बढ़ रहे हैं जो राष्ट्रपति के तौर पर निर्वाचित होने के लिए जरूरी है. उन्होंने विस्कॉन्सिन और मिशीगन में जीत हासिल कर ली है. मतदान दो दिन पहले हुआ और चुनाव में राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन व्हाइट हाउस पहुंचने के लिए आवश्यक 270 निर्वाचक मंडल मत के करीब पहुंच गये हैं .

1972 में जुड़ा था अमेरिकी बाइडेन का भारतीय बाइडेन से रिश्‍ता

डेलावेयर से 1972 में सीनेटर चुने जाने पर बाइडेन को मुम्बई से उन्हीं के उपनाम वाले एक व्यक्ति ने बधाई देने के लिए पत्र भेजा था। सीनेटर बनने के लिए उन्हें ‘बाइडेन फ्रॉम मुंबई’ ने शुभकामनाएं दी थीं और बताया था कि उनका एक-दूसरे से रिश्ता है। बाइडेन उस समय 29 साल के थे और उस शख्स से मिलना चाहते थे लेकिन परिवार और राजनीतिक प्रतिबद्धताओं के चलते ऐसा हो ना सका। पांच दशक बाद भी वह अपनी इस इच्छा को पूरी करना चाहते हैं और जब भी किसी भारतीय-अमेरिकी या भारतीय नेता से मुलाकात करते हैं तो ‘बाइडेन फ्रॉम मुम्बई’ का जिक्र जरूर करते हैं।

BSE आकर जो बाइडेन ने सुनाई थी ये कहानी

bse-

अमेरिका के उप राष्ट्रपति बनने के बाद अपनी पहली भारत यात्रा पर 24 जुलाई 2013 को मुंबई में ‘बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज’ में लोगों को संबोधित करते हुए भी उन्होंने ‘बाइडेन फ्रॉम मुंबई’ की कहानी लोगों को सुनाई थी।

29 साल की उम्र में बाइडेन को म‍िली थी च‍िट्ठी

29-

बाइडेन ने लोगों से कहा था, ‘‘1972 में जब मैं 29 साल का था और अमेरिकी सीनेटर चुना गया था तब मुझे एक पत्र मिला था, जिसका जवाब ना देने का मुझे आज भी अफसोस है। शायद दर्शक में बैठा कोई वंशावली विशेषज्ञ मेरी मदद कर सके। मुझे मुंबईसे बाइडेन नाम के एक सज्जन पुरुष का पत्र मिला था, जिसमें उसने कहा था कि हम दोनों का एक-दसरे से कोई रिश्ता है।’’

दोनों के पूर्वजों का हो सकता है जुड़ाव

बाइडेन ने कहा, ‘‘शायद हमारे पूर्वर्जों का कोई संबंध हो या 1700 में ‘ईस्ट इंडिया ट्रेडिंग कम्पनी’ में काम करने के लिए कोई मुम्बई आया हो।’’ इसके कुछ साल बाद वाशिंगटन डीसी में भी एक भाषण के दौरान बाइडेन ने कहा था कि उनके पूर्वज एक थे, जिन्होंने ‘ईस्ट इंडिया कम्पनी’ के लिए काम किया और जो तब भारत गए थे।

…तो मैं भारत में भी चुनाव लड़ सकता हूं’

इसके बाद, 21 सितंबर, 2015 को ‘यूएस इंडिया बिजनेस काउंसिल’ को संबोधित करते हुए बाइडेन ने कहा था कि ‘बाइडेन फ्रॉम मुम्बई’ और मेरे पूर्वज शायद एक थे, 1848 में जो ‘ईस्ट इंडिया टी कम्पनी’ के लिए काम करते थे। उन्होंने शायद किसी भारतीय महिला से शादी कर ली और भारत में ही रह गए। मुंबई में 2013 में बाइडेन ने लोगों से कहा था अगर यह सच है तो मैं भारत में भी चुनाव लड़ सकता हूं। उनके इस भाषण के दौरान वहां मौजूद दर्शकों के बीच हंसी की एक लहर दौड़ गई थी।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Copyright © All rights Reserved with Suchkesath. | Powered By : Webinfomax IT Solutions .
EXCLUSIVE